अमेरिका ने अपने नागरिकों को चेताया, 'पाकिस्तान जाने से बचें'

नई दिल्ली (9 अप्रैल): अमेरिका ने अपने नागरिकों को सावधान करते हुए कहा है कि वे पाकिस्तान की गैर जरूरी यात्रा से जितना संभव हो उतना बचें। ऐसा वहां जारी साम्प्रदायिक हमलों और आतंकवादी हिंसा के मद्देनजर कहा गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान से जुड़ी हालिया यात्रा चेतावनी में यह बात कही है। इससे पहले पिछले साल 28 अगस्त को यह यात्रा परामर्श जारी किया गया था। जिसकी जगह अब ताजा चेतावनी जारी की गई है। विदेश मंत्रालय ने कहा, "पाकिस्तान में सांप्रदायिक हमलों समेत बड़े स्तर पर आतंकवादी हिंसा जारी है। वहां कई विदेशी एवं स्थानीय आतंकवादी समूह देश भर में अमेरिकी नागरिकों के लिए खतरा बने हुए है।"

हालांकि इस्लामाबाद में अमेरिकी दूतावास और कराची स्थित इसका वाणिज्य दूतावास अपने नागरिकों के लिए दूतावास संबंधी सेवा मुहैया करा रहा है। पेशावर वाणिज्य दूतावास अब दूतावास संबंधी सेवाएं उपलब्ध नहीं कराता। लाहौर में वाणिज्य दूतावास को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान में सांप्रदायिक हिंसा एक गंभीर खतरा बनी हुई है। पाकिस्तान सरकार ईशनिंदा कानून अब भी लागू कर रही है। ऐसे में धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय ईशनिंदा के तहत आरोपी बनाए गए हैं और उन्हें निशाना बनाकर हत्याएं की गई हैं।