भारत दौरे पर निकी हेली, धार्मिक आजादी को बताया जरूरी

न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई (27 जून): इन दिनों संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली भारत दौरे पर हैं। अपने भारत दौरे के पहले दिन निकी हेली ने कहा कि धार्मिक आज़ादी बहुत जरूरी है। साथ ही उनकी यात्रा का मकसद दुनिया के दो सबसे पुराने लोकतंत्रों के बीच साझेदारी को मजबूत करना है। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत बनने के बाद पहली बार भारत दौरे पर आईं हेली ने जोर देकर कहा कि लोगों की स्‍वतंत्रता बेहद महत्‍वपूर्ण है, जिसमें धार्मिक स्वतंत्रता भी शामिल है।भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक हेली ने अपनी यात्रा को घर वापसी जैसा बताया। उन्होंने कहा कि, 'भारत वापस आकर मेरा दिल खुश हो गया है। यह उतना ही खूबसूरत है जितना मुझे याद है। वापस घर आना हमेशा अच्छा लगता है। मेरे माता-पिता ने कहा कि मैं पागल हूं, जो इस साल इस समय यहां आ रही हूं, क्योंकि इन दिनों यहां बहुत गर्मी है। लेकिन मैं आपको बताऊं कि भारत आने के लिए मैं गर्मी झेली जा सकती हूं।'भारत-अमेरिका संबंधों के बारे में जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि दोनों देश सबसे पुराने लोकतंत्र हैं, जिनके लोगों, आजादी और अवसरों के साझे मूल्य हैं। हेली ने कहा, 'हम अमेरिका और भारत के बीच उन अवसरों को कई तरीकों से देखते हैं, चाहे वह आतंकवाद के विरोध में हो, चाहे इस बात में कि हम लोकतांत्रिक अवसरों को जारी रखना चाहते हैं और सैन्य आयामों में अधिक मजबूती से एक साथ काम शुरू करना चाहते हैं।'