ईरान के मिसाइल प्रक्षेपण से बौखलाया अमेरिका, उठा सकता है बड़ा कदम

नई दिल्ली(3 फरवरी): बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपण के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को नोटिस पर डाल दिया और आगाह किया कि अगर अमेरिका आगे नहीं आया और किसी करार के रूप में उसे जीवन-रेखा नहीं दी गई तो ईरान अपने आखिरी पड़ाव पर है और गिरने के करीब है।

- ट्रंप ने एक ट्विट में कहा, बैलिस्टिक मिसाइल दागने के लिए ईरान को औपचारिक रूप से नोटिस पर डाला गया है। उसे उस करार के लिए एहसानमंद होना चाहिए जो अमेरिका ने उसके साथ किया।

- अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि ईरान अपने आखिरी चरण में था और अगर अमेरिका आगे नहीं आया और किसी करार के रूप में उसे जीवन-रेखा नहीं दी तो ईरान अपने आखिरी पड़ांव पर है और गिरने के करीब है।

- अतीत में ट्रंप ईरान और ओबामा प्रशासन तथा साथ ही संयुक्त राष्ट्र के बीच विभिन्न समझौतों की कड़ी आलोचना करते थे और उन्हें कमजोर और निष्प्रभावी बताते थे। इससे पहले ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ईरान की इस तरह की कार्रवाइयों की निंदा करता है जो पश्चिम एशिया भर में और उससे इतर सुरक्षा, खुशहाली और स्थिरता को कमजोर करती हैं और अमेरिकियों की जान जोखिम में डालती हैं।

- फ्लिन ने कहा, हम आज से आधिकारिक रूप से ईरान को नोटिस पर डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि उकसावेपूर्ण मिसाइल परीक्षण और सउदी नौसैनिक पोत पर ईरान समर्थित हुथी विद्रोहियों का हमला अंतरराष्ट्रीय समुदाय के समक्ष क्षेत्र में ईरान के अस्थिरताकारी बर्ताव पेश करता है। सलाहकार ने कहा कि ईरान द्वारा मिसाइल का प्रक्षेपण किया जाना संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 2231 का उल्लंघन है। ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद ईरान का यह पहला मिसाइल प्रक्षेपण है।