गुआम में परमाणु हथियारों से लैस हैं यूएस के सैनिक


नई दिल्ली (16 अगस्त):
यूएस ने नॉर्थ कोरिया की धमकी के बाद प्रशांत महासागर में स्थित गुआम आईलैंड पर परमाणु हथियार से लैस 7000 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं। अगर नॉर्थ कोरिया के सबसे पास कोई अमेरिकी इलाका है तो वह गुआम ही है। दोनों के बीच की दूरी करीब 3427 किलोमीटर है।

गुआम के शुरुआत की बात करें तो यह आईलैंड अमेरिका का हिस्सा नहीं था। इसकी तलाश पुर्तगाली खोजकर्ता फ्रेडिनेंड मजेलन ने की थी। 1565 में स्पेन ने इस पर दावा किया था और 1898 तक इस पर स्पेन का शासन रहा। एक संधि के तहत स्पेन ने इसे अमेरिका को सौंप दिया।

1941 में गुआम पर जापान का नियंत्रण हो गया, लेकिन तीन साल बाद यह फिर से अमेरिकी क्षेत्र बन गया। आधिकारिक रूप से 1950 में इसे अमेरिका में शामिल किया गया और यह डिपार्टमेंट ऑफ नेवी के हिस्से आता है। गुआम में करीब एक लाख 60 हजार की आबादी रहती है। इन लोगों को अमेरिकी नागरिकता हासिल है, लेकिन ये लोग अमेरिकी चुनाव में वोट नहीं डालते।

गुआम में अमेरिका का एंडरसन एयर फोर्स बेस है और नेवी बेस भी है, यहां करीब 7 हजार अमेरिकी सैनिक अपने परिवार के साथ रहते हैं। अमेरिकी आईलैंड पर बी-52 बमवर्षक सहित कई लड़ाकू विमान तैनात हैं। यहां परमाणु हथियार से लैस युद्धपोत तैनात हैं।