2015 में अमेरिका ने वैश्विक स्तर पर सबसे ज्यादा बेचे हथियार

नई दिल्ली ( 28 दिसंबर ): अमेरिका ने साल 2015 में वैश्विक स्तर सबसे अधिक हथियारों की बिक्री की।  उसने करीब 40 अरब डॉलर के हथियार बेचे हैं। यह दुनिया के हथियार बाजार के सभी समझौतों का आधा हिस्सा है और उसके निकटतम प्रतिद्वंद्वी फ्रांस से दोगुने से अधिक है। अमेरिकी कांग्रेस के एक नये अध्ययन में यह कहा गया है।

पाकिस्तान सहित विकासशील देश 2015 में हथियारों के सबसे बड़े खरीदार बने रहे। कतर ने पिछले साल हथियारों के लिये 17 अरब डॉलर से अधिक के सौदे पर हस्ताक्षर किए। इसके बाद क्रमश: मिस्र, सउदी अरब का स्थान है। 'विकासशील देशों को पारंपरिक हथियार हस्तांतरण, 2008-2015' शीर्षक वाली रिपोर्ट कांग्रेस की रिसर्च सर्विस ने तैयार की है जो लाइब्रेरी ऑफ कांग्रेस का एक विभाग है।

इसे पिछले हफ्ते सांसदों को सौंपा गया। न्यूयार्क टाइम्स ने अध्ययन का जिक्र करते हुए कहा है वैश्विक तनाव और जोखिम से इसके कम होने के कुछ संकेत मिले हैं। हथियारों का कुल वैश्विक कारोबार 2014 के 89 अरब डॉलर से घट कर 2015 में 80 अरब डॉलर के करीब हो गया। वैश्विक हथियार बाजार में एक और वर्चस्वशाली देश रुस को हथियारों के आर्डर में मामूली कमी आई है।