आतंकवाद रोकने और आतंकियों को भारत भेजने, दो खेल नहीं खेल सकता पाकिस्तान: US सीनेटर

नई दिल्ली(3 मार्च): अमेरिका के डेमोक्रेट सीनेटर मार्क वॉर्नर ने कहा है कि आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान का दोमुंही बात करना गलत है। एक तरफ वह आतंकवाद को खत्म करने की बात करता है, दूसरी तरफ वह चोरी-छिपे भारत में आतंकियों को दाखिल कराता है।

- इसके अलावा, सीनेटर्स ने भारत को गार्डियन ड्रोन देने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि अमेरिका के भारत को ड्रोन देने से न केवल डिफेंस के क्षेत्र में को-ऑपरेशन बढ़ेगा, बल्कि दोनों देशों के बीच रिश्ते भी मजबूत होंगे।

- डेमोक्रेट सीनेटर मार्क वार्नर और रिपब्लिकन सीनेटर डैन सुलीवान ने वॉशिंगटन में एक प्रोग्राम में ये बात कही।

- उन्होंने कहा कि ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन ने भारत को डिफेंस के क्षेत्र में करीबी सहयोगी बताया था। इस रिलेशनशिप को आगे ले जाने के लिए ड्रोन देना काफी कारगर साबित होगा।

- दोनों सीनेटर्स ने इस बात पर जोर दिया कि भारत-यूएस को-ऑपरेशन केवल एशिया-पैसिफिक रीजन ही नहीं, बल्कि साउथ चाइना सी के लिए भी जरूरी है।

- "दोनों ही देश पाकिस्तान में आतंकियों के लिए सेफ हेवन्स बनने को लेकर चिंतित हैं, जहां से सीमा पार से लगातार आतंकी हमले होते रहते हैं।"

- वॉर्नर ने कहा, "पाकिस्तान का केवल कश्मीर में हिंसा-अशांति फैलाने में ही रोल नहीं है, बल्कि वह आतंकी संगठनों को भी अपने यहां शरण देता है।"

- "पाकिस्तान का दो तरह से बात करना गलत है। एक तरफ वह अपनी जमीन पर आतंकी गुटों को खत्म करने के लिए बात करने पर जोर देता है, दूसरी तरफ वह चोरी-छिपे भारत में आतंकियों को भेजता है।"

- "मैं बस यही कहना चाहता हूं कि पाक अपने यहां टेरर ग्रुप्स को मदद करना बंद करे और उन पर सख्त एक्शन ले।"

- सुलीवान ने कहा, "भारत-यूएस को ज्वाइंट मिलिट्री ऑपरेशन्स करना चाहिए। ये दोनों देशों के हित में है। ये भारत को एक अहम दर्जा देने जैसा फैसला होगा।"

- भारत यूएस की तरफ से आए ऐसे किसी प्रपोजल को टालता रहा है।

- वॉर्नर ने भारत के ड्रोन के प्रपोजल को यूएस के फॉरेन और डिफेंस डिपार्टमेंट के तवज्जो न दिए जाने को लेकर चिंता जताई।

- वॉर्नर ने कहा, "भारत को ड्रोन बेचे जाने के फॉरेन और डिफेंस मिनिस्ट्री के रुख से मैं दुखी हूं। ऐसा होना रिश्तों में मजबूती ही लाएगा।"

- "इस पार्टनरशिप से हमें भारत के रूप में एक नॉन-नाटो सहयोगी मिल जाएगा। ये सही दिशा में उठाया गया एक बड़ा कदम होगा।"