जयशंकर की अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पेओ के सामने दो-टूक, कहा - राष्ट्र के हित को देंगे महत्व

jai shankar

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 जून): अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो तीन दिवसीय भारत दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी, विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर, एनएसए अजीत डोभाल से मुलाकात की। पोम्पियो और विदेश मंत्री एस जयशंकर दिल्ली में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में 'व्यापार विवादों और एस -400' पर पोम्पियो ने कहा कि मुझे कभी भी कोई साथी नहीं मिला, चाहे वह कितना ही करीबी क्यों न हो, हमारे पास ऐसी जगह नहीं है जहां हम चीजों के माध्यम से काम कर सकें। हमने यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया है कि हमारे देश अपने लिए सुरक्षा प्रदान कर सके। हम चाहते हैं कि भारत भी ऐसा करने में सक्षम हो।

पोम्पियो ने आगे कहा कि मैं दो मुद्दों को अवसरों के रूप में देखता हूं। मुझें पता है कि हम एक साथ काम कर सकते हैं और अपने रिश्ते की नींव प्रदान कर सकते हैं। इस दौरान पोम्पियो ने कहा कि हम एक-दूसरे को न केवल द्विपक्षीय साझेदारों के रूप में देख सकते हैं, बल्कि इससे कहीं ज्यादा देखते हैं, ताकि हम दुनिया भर में एक-दूसरे की मदद कर सकें। CAATSA मुद्दे पर बोलते हुए जयशंकर ने कहा कि हमारे कई देशों के साथ रिश्ते हैं, उनमें से कई के अपने विचार हैं। उनका एक इतिहास है। हम वही करेंगे जो हमारे राष्ट्रीय हित में है। 'यूएस-ईरान तनाव' पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि हमने खाड़ी में स्थिति पर चर्चा की। मैंने पोम्पेओ के साथ अपने हितों और चिंताओं को भी साझा किया। उन्होंने आगे कहा कि ईरान के बारे में हमारा एक निश्चित दृष्टिकोण है। अमेरिकी विदेश मंत्री ने मेरे साथ ईरान पर अमेरिका की चिंताओं को साझा किया। हम दोनों निश्चित रूप से उस संबंध में एक-दूसरे की चिंताओं के बारे में बेहतर ढंग से जानते थे।

एस जयशंकर ने आगे कहा कि मैंने यह साफ कर दिया है कि इंडो-पैसिफिक किसी के खिलाफ नहीं है। वह शांति, सुरक्षा, स्थिरता और समृद्धि के लिए है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा अमेरिका-भारत की साझेदारी पहले ही नई ऊंचाइयों पर पहुंचने लगी है, हमने अपने रक्षा सहयोग को मजबूत किया है।  हमने ऊर्जा, अंतरिक्ष और अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाया है। मंगलवार देर रात माइक पोम्पियो भारत दौरे पर दिल्ली पहुंचे। आज पोम्पियो ने सबसे पहले दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। इस दौरान पीएम मोदी के साथ विदेश मंत्री एस जयशंकर और एनएसए अजीत डोभाल भी मौजूद रहे।