मोदी की बड़ी कामयाबी, अमेरिका ने लौटाई 10 करोड़ डॉलर की कलाकृतियां!

वाशिंगटन (7 जून): भले ही विपक्षी पार्टियां और विरोधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेश दौरों को लेकर सवाल उठाते रहते हों, लेकिन दूसरे देशों पर उनका असर दिखने लगा है। अमेरिका ने पहली नरेंद्र मोदी की शिरकत वाले एक समारोह के दौरान भारत को 200 से ज्यादा सांस्कृतिक कलाकृतियां लौटा दीं। इन कलाकृतियों की कीमत लगभग 10 करोड़ डॉलर है।

यहीं नहीं अमेरिका के राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा है कि भारत के अंदर मुश्किल राजनैतिक हालातों में भी उन्होंने जलवायु परिवर्तन को लेकर बड़े कदम उठाए हैं। उन्होंने इन मुद्दे पर देश के नेतृत्व को दर्शाया है।

प्रधानमंत्री ने ब्लेयर हाउस में आयोजित एक समारोह के दौरान कहा, ‘कुछ लोगों के लिए इन कलाकृतियों की कीमत मुद्रा के रूप में हो सकती है लेकिन हमारे लिए यह इससे कहीं ज्यादा है। यह हमारी संस्कृति और विरासत का हिस्सा है।’ अमेरिका की ओर से लौटाई गई चीजों में धार्मिक मूर्तियां, कांसे और टैराकोटा की कलाकृतियां शामिल हैं। इनमें से कई कलाकृतियां तो 2000 साल पुरानी हैं। इन्हें भारत के सबसे संपन्न धार्मिक स्थलों से लूटा गया था।

इनमें एक मूर्ति संत माणिककविचावकर की है, जो चोल काल (850 ईसा पश्चात से 1250 ईसा पश्चात) के तमिल कवि थे। इस मूर्ति को चेन्नई के सिवान मंदिर से चुराया गया था। इसकी कीमत 15 लाख डॉलर है। इसके अलावा लौटाई गई चीजों में भगवान गणेश की एक कांसे की मूर्ति भी है, जो 1000 साल पुरानी मालूम होती है।