ट्रंप की घोषणा से डरा पाक, सेना को डर कभी भी हमला कर सकता है यूएस

इस्लामाबाद (4 जनवरी): अमेरिका से लगातार मिल रहे झटको के बाद पाकिस्तान पूरी तरह से घबरा गया है। अब उसे समझ में नहीं आ रही है कि वह अमेरिका से अपने रिश्तों को बिगाड़े या सुधारे। ऐसे में पाकिस्तान की सेना ने अपने नागरिकों को आगे करते हुए कहा कि अब अमेरिका के किसी भी ऐक्शन का देशवासियों की इच्छा के अनुसार जवाब दिया जाएगा।

वाइट हाउस ने घोषणा की है कि अमेरिका जल्द ही पाकिस्तान के खिलाफ कुछ बड़े कदम उठा सकता है। नए साल के पहले दिन ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था कि पाकिस्तान को 15 वर्षों में 33 अरब डॉलर की मदद मिली, बदले में हमें झूठ और धोखा मिला। इसके बाद अमेरिका ने घोषणा की कि वह पाकिस्तान को मिलने वाली 255 मिलियन डॉलर की सैन्य मदद रोक रहा है।

इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक बयान में कहा, 'अगर अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ कोई ऐक्शन लिया तो पाकिस्तान की जनता की इच्छा के अनुसार जवाब दिया जाएगा।' हालांकि उन्होंने सुर बदलते हुए यह भी कहा कि अगर पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका ऐक्शन लेता है तो पाकिस्तानियों की इच्छाओं के अनुरूप जवाब दिया जाएगा।

इस ट्वीट से पाकिस्तान सरकार हिल गई। एक के बाद कई मीटिंग बुलाई गई, जिससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुई पाकिस्तान की शर्मिंदगी का जवाब दिया जा सके। राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक में ट्रंप के बयान पर निराशा जाहिर की गई, साथ ही यह भी कहा गया कि देश जल्दबाजी में कोई कदम नहीं उठाएगा।