ट्रंप ने ठाना- करेंगे ISIS का सफाया

नई दिल्ली(19 फरवरी): अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अपने देश को सुरक्षित रखने के उपायों के तहत आतंकी गुट ISIS को ‘पूरी तरह नष्ट करने’ और अमेरिकी सेना का पुनर्निर्माण करने का संकल्प जताया है। शपथ लेने के करीब एक माह बाद फ्लोरिडा में आयोजित एक रैली में ट्रंप ने यह बात कही।

- ट्रंप ने कहा ‘मूल बात यह है कि हमें अपने देश को सुरक्षित रखना है। आप देख रहे हैं कि क्या हो रहा है?’ उनकी यह रैली उसी तरह की थी जिस तरह उनकी चुनाव प्रचार संबंधी रैलियां होती थीं। ट्रंप ने कहा ‘हमने हजारों हजार लोगों को अपने देश में आने की अनुमति दी। इन लोगों की जांच करने का कोई तरीका नहीं है। कोई दस्तावेजीकरण नहीं है, कुछ भी नहीं।’

- उन्होंने अपने चिर परिचित वाक्य को भी दोहराया कि अमेरिका को अब जीत नहीं मिलती। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा ‘शांति के बजाय हमने ऐसे युद्ध देखे जिनका कभी अंत नहीं हुआ। ऐसे संघर्ष जो समाप्त होते नहीं दिखे। हम जीतने के लिए नहीं लड़ते। हम राजनीतिक रुप से सही युद्ध लड़ते हैं। हम अब नहीं जीतते। हम व्यापार में, किसी क्षमता में नहीं जीतते। अब नहीं जीतते। बहरहाल, हम एक बार फिर जीतना शुरु करने जा रहे हैं। मेरा भरोसा करें।’

- ट्रंप ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्री जे मैटिस की अगुवाई वाले रक्षा समुदाय को ‘आईएसआईएस के पूरी तरह सफाये के लिए योजना बनाने का’ तथा अमेरिकी सेना के ‘पुनर्निर्माण’ का आदेश दिया है। उन्होंने कहा ‘हम ताकत के माध्यम से शांति बहाल करेंगे। हमारी सेना बुरी तरह कमजोर हुई है। हम दुनिया के किसी भी हिस्से की तुलना में कहीं ज्यादा बेहतर उपकरण बनाते हैं। हम अपने सर्वश्रेष्ठ और आधुनिक उपकरण का उपयोग शुरु करने जा रहे हैं।’

- ट्रंप ने कहा कि वह सीरिया और अन्य क्षेत्रों में सुरक्षित इलाके बनाने जा रहे हैं ताकि आव्रजक वहां ठहर सकें और सुरक्षित जीवन जी सकें। उन्होंने कहा ‘हम चाहते हैं कि लोग हमारे देश आएं। लेकिन हम यह भी चाहते हैं कि लोग हमें प्यार करें। हम चाहते हैं कि लोग हमें, हमारे देश की परंपराओं को समझें। हम बुरे विचारों वाले लोगों को नही चाहते।’

- ट्रंप ने कहा कि वह नौकरियों को देश में वापस लाने तथा अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए भी कदम उठा रहे हैं। वह स्वयं अरबपति हैं लेकिन ‘तथाकथित वैश्विक अमीरों’ पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि इन लोगों ने दूसरों की कीमत पर अपने लिए सब कुछ बहुत अच्छा किया है। रैली में उन्होंने यह भी कहा कि वह कार्यबल में सभी महिलाओं को समान अवसर सुनिश्चित करना चाहते हैं. गौरतलब है कि चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न के आरोप लगे थे।