उत्तर कोरिया पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी में US, डोनाल्ड ट्रंप ने दिए संकेत

नई दिल्ली (4 सितंबर): अमेरिका के चेतवानी के बाद भी उत्तर कोरिया लगातार मिसाइलों का परीक्षण ग्रहण कर रहा है। अब रविवार को उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम परीक्षण किया। इससे नाराज अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। ट्रंप ने दो टूक कह दिया है कि अमेरिका अन्य विकल्पों के अलावा उन देशों के साथ ट्रेड बंद करने पर भी विचार कर रहा है जो उत्तर कोरिया के साथ बिजनस कर रहे हैं। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वह उत्तर कोरिया मुद्दे पर व्हाइट हाउस में जनरल केली, जनरल मैटिस और अन्य मिलिटरी लीडर्स के साथ बैठक करने जा रहे हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि क्या अमेरिका उत्तर कोरिया के खिलाफ सैन्य कार्रवाई का फैसला कर सकता है? 

उत्तर कोरिया ने रविवार को बेहद शक्तिशाली हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया। भारत सहित अमेरिका, रूस, चीन, जापान और फ्रांस जैसे देशों ने इसका कड़ा विरोध किया है। अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच पहले से ही तनातनी चल रही है। दोनों देश एक दूसरे को कई बार युद्ध और परिणाम भुगतने की चेतावनी दे चुके हैं। 

अमेरिका ने परमाणु परिक्षण को लेकर कई बार चेतावनी दी थी। ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद उत्तर कोरिया ने पहली बार यह कदम उठाया है, लेकिन इस बार अमेरिका का रुख बेहद कड़ा है। उसने विश्व समुदाय को संकेत दे दिया है कि अब उत्तर कोरिया के खिलाफ सख्त कदम उठाने का समय आ गया है।

उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण की खबर आने के बाद ट्रंप ने एक के बाद एक 5 ट्वीट किए। ट्रंप ने इस परीक्षण का विरोध करते हुए चीन को भी आईना दिखाया। उन्होंने ट्विटर पर कहा कि उत्तर कोरिया एक दुष्ट राष्ट्र है और यह चीन के लिए भी खतरा और शर्मिंदगी का कारण बन गया है। 

उन्होंने उत्तर कोरिया की कथनी और करनी को अमेरिका के लिए शत्रुतापूर्ण और खतरनाक बताया। ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, 'दक्षिण कोरिया को अब मेरी बात समझ आ रही है कि उत्तर कोरिया के साथ तुष्टिकरण वाली बातचीत का असर नहीं होगा। वह केवल एक भी चीज समझता है।