अमेरिका के लिए भारत महत्वपूर्ण, एशिया-प्रशांत क्षेत्र के लिए हिंद-प्रशांत शब्द का इस्तेमाल

वाशिंगटन (6 नवंबर): भारत तेजी से तरक्की कर रहा है और अंतर्राष्ट्रीय राजनीति और अर्थव्यवस्था में इसका कद लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बाद की तस्दीक दुनिया के तमाम ताकतवर देश लगातार करते आ रहे हैं। इसी कड़ी में अमेरिका ने कहा है कि भारत दुनिया का एक महत्वपूर्ण आर्थिक और सामरिक शक्ति है।

इसी कड़ी में ट्रंप प्रशासन ने अब एशिया-प्रशांत क्षेत्र के लिए हिंद-प्रशांत शब्द का इस्तेमाल करना शुरू किया है। अब अमेरिका ने इन दो शब्दों के इस्तेमाल की वजह भी बताई है। ट्रंप प्रशासन ने एशिया-प्रशांत की बजाय भारत-प्रशांत शब्दावली के इस्तेमाल को लेकर कहा है कि यह भारत के आगे बढ़ने की अहमियत को बयां करता है, जिसके साथ अमेरिका के मजबूत संबंध हैं और ये आगे बढ़ रहे हैं। 

जापान की राजधानी तोक्यो में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए वाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमारा भारत के साथ मजबूत संबंध है और बढ़ता जा रहा है। हम भारत-प्रशांत के बारे में बात करते हैं क्योंकि यह शब्दावली भारत के आगे बढ़ने की अहमियत को बयां करता है।   आपको बता दें कि इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने जापान पहुंचते ही एशिया की अपनी 12 दिनों की लंबी यात्रा शुरू की। वह दक्षिण कोरिया, चीन, वियतनाम और फिलीपींस की भी यात्रा करेंगे।