अमेरिका में सिख युवक पर नस्लीय टिप्पणी, कहा- ओसामा

नई दिल्ली (11 जून ): अमेरिका में हिंदुओं और सिखों पर नस्ली हमले थम नहीं रहे हैं। इस बार न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर रिलीजन एंड मीडिया में पोस्ट डॉक्टरल फेलो सिमरन जीत सिंह नस्लीय टिप्पणी का शिकार हुए हैं।

घटना बृहस्पतिवार की है। वह हडसन नदी के किनारे दौड़ रहे थे। उन्होंने कानों में ईयरफोन लगा रखा था पर उन्हें स्पष्ट सुनाई दिया कि तीन किशोरों के एक समूह ने ओसामा, ओसामा की आवाज लगाई। यही नहीं, उन किशोरों ने कुछ और अपमानजनक टिप्पणी भी की।

सिंह ने पहले सोचा कि वह प्रतिक्रिया नहीं देंगे और दौड़ते रहेंगे पर उन्हें पिछले हफ्ते की एक ऐसी ही घटना याद आई जब एक बुजुर्ग महिला ने उन पर नस्ली टिप्पणी की थी। सिंह ने उस महिला को जवाब नहीं दिया था, जिसका उन्हें बाद में पछतावा भी हुआ।

एनबीसी न्यूज के लिए लिखे लेख में उन्होंने कहा, मैंने अपने दोस्तों से इस पर राय ली थी कि मैं अगली बार ऐसी घटना पर प्रभावी तरीके से कैसे जवाब दूं। आगे कहा कि एक हफ्ते बाद ही मुझे वो मौका मिल गया। मैं उस किशोर के पास आया जो मुझ पर चिल्ला रहा था। युवा अश्वेत ने मुझसे आंखें नहीं मिलाईं। नजदीक जाने पर किशोर ने कहा कि वह तो मजाक कर रहा था और उसने माफी भी मांगी।

हालांकि सिंह ने कहा कि माफी देना इतना आसान नहीं है क्योंकि जब कोई नस्ली टिप्पणी करता है तो इससे दुख होता है। जब लोग मेरी तरफ देखकर मुझे दुश्मन समझते हैं तो दुख होता है।