अमेरिका: जनरल का बड़ा बयान, ट्रंप के परमाणु हमले का आदेश नहीं मानेंगे

नई दिल्ली ( 19 नवंबर ): अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच लगातार तनाव बना हुआ है। इस बीच अमेरिका के परमाणु हथियारों के प्रभारी जनरल ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने यह कहकर हैरान कर दिया कि अगर राष्ट्रपति ट्रंप सीधे उन्हें परमाणु बम से हमला का आदेश देते हैं, तो वह नहीं मानेंगे। अमेरिका की स्टै्रटेजिक कमांड के कमांडर एयरफोर्स जनरल जॉन हीटेन ने यह बात कनाडा के एक कार्यक्रम में कही। इसी स्ट्रैटेजिक कमांड पर परमाणु हथियारों की देखरेख और उनके इस्तेमाल का जिम्मा है। अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने हीटेन के इस बयान पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त की है।

जनरल ने कहा कि उन्हें ऐसा कोई आदेश मिलता है तो वह उस पर बहुत ज्यादा सोचेंगे। हीटेन ने कहा कि कुछ लोग अगर यह सोचते हैं कि हम मूर्ख हैं, तो वह गलत हैं। हम मूर्ख नहीं हैं। हमारे पास अगर जिम्मेदारी है, तो हम मूर्ख नहीं हो सकते। हम सारी परिस्थितियों को देखकर अंतिम फैसला लेंगे।

हीटेन ने कहा, स्ट्रैटेजिक कमांड के प्रमुख के तौर पर वह राष्ट्रपति को सलाह देंगे और उसके बाद उनके आदेश की प्रतीक्षा करेंगे। ..और अगर वह आदेश गलत होगा, तो राष्ट्रपति को बताएंगे कि उनका आदेश गलत है। विकल्पों के बारे में जानकारी देंगे। जनरल हीटेन परमाणु हथियारों पर मिलने वाले आदेश के विषय पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा, अगर कोई गलत आदेश को मानता है तो उसे पूरी उम्र के लिए जेल जाना पड़ सकता है।