आज से अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री का भारत दौरा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 सितंबर): अमेरिका के विदेश मंत्री माइकल पोम्पीओ और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस भारत के दौरे पर आ रहे हैं। अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्री के दिल्ली के इस दौरे को अमेरिका और भारत के संबंधों के बीच एक आयाम के तौर पर देखा जा रहा है। कल भारत और अमेरिका के बीच पहली 'टू प्लस टू' वार्ता होगी। इसमें द्विपक्षीय रणनीतिक रिश्तों को अब ज्यादा व्यापक व व्यवहारिक बनाने का रोडमैप तैयार हो जाएगा। टू प्लस टू वार्ता का फैसला जून, 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई बैठक में किया गया था। इसमें भारत की अगुवाई विदेश मंत्री सुषमा स्वराज व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी जबकि अमेरिका में इनके समकक्ष विदेश मंत्री माइकल पोम्पीओ और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस वार्ता में शिरकत करेंगे।ये वार्ता दो चरणों में होगी। पहले चरण में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों की अलग अलग बैठक होगी। दूसरे चरण में चारों अपने अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक करेंगे। उसके बाद इन चारों की पीएम नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात होगी। टू प्लस टू वार्ता की अहमियत इस बात से समझी जा सकती है कि अमेरिका इस तरह का साझा विमर्श अभी तक सिर्फ आस्ट्रेलिया व जापान के साथ करता है जिसे वह अपने रणनीतिक मामलों के लिए बेहद अहम मानता है।अमेरिका से टू प्लस टू वार्ता से पहले भारत ने मंगलवार को रूस के साथ अपने डिफेंस डील से पीछे नहीं हटने के संकेत दिए। यही नहीं भारत ने कहा कि अमेरिका को इस संबंध में कोई भी फैसला लेने से पहले आपसी संबंधों की महत्ता के बारे में सोचना चाहिए। भारत ने कहा कि रूस से S-400 ऐंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खरीद को लेकर प्रतिबंध जैसा फैसला लेने से पहले अमेरिका को भारत के साथ अपने रणनीतिक संबंधों के स्तर को भी समझना होगा।