Blog single photo

गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देगा अमेरिका

अमेरिकी ने एक बड़ा कदम उठाते हुए गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने का ऐलान किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया है कि अब समय आ गया है

Image Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 मार्च): अमेरिकी ने एक बड़ा कदम उठाते हुए गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने का ऐलान किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया है कि अब समय आ गया है जब अमेरिका गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता दे। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट किया है कि, '52 सालों के बाद अब समय आ गया है जब अमेरिका गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता दे, जोकि इजरायल और क्षेत्र की स्थिरता के लिए रणनीतिक और सुरक्षा की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है।'

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के इस ऐलान पर इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने खुशी का इजहार किया है। बेंजामिन नेतन्याहू अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को धन्यवाद बोलते हुए ट्वीट किया है कि, 'ऐसे समय में जब ईरान, इजरायल को बर्बाद करने के लिए सीरिया को एक प्लेटफॉर्म के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है, राष्ट्रपति ट्रंप ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायली प्रभुत्व को मान्यता दी है। राष्ट्रपति ट्रंप को धन्यवाद।'

इजरायली मीडिया का दावा है कि अगले सप्ताह व्हाइट हाउस गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने का औपचारिक ऐलान कर सकता है। गौरतलब है कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ इस समय येरूशलम हैं और वो इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू समेत वहां के बड़े नेताओं से बात कर रहे हैं। आपको बता दें कि, 1967 में सीरिया के साथ युद्ध के दौरान इजरायल ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र को अपने कब्जे में ले लिया था। संयुक्त राष्ट्र गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के कब्जे को गैरकानूनी मानता है और उसे सीरिया को लौटाने के लिए कहता रहता है। आपको बता दें कि अरब लीग के सदस्य देश भी गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर सीरिया के अधिकार को मानता है।

Tags :

NEXT STORY
Top