ट्रम्प पर आरोप, रूस से साझा की खुफिया जानकारी


नई दिल्ली(16 मई): अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आईएसआईएस से जुड़ी बेहद खुफिया जानकारी रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और एंबेसडर सर्गेई किस्ल्याक से साझा की हैं। यह खुलासा दोनों के बीच पिछले हफ्ते हुई मीटिंग में किया गया। इसमें आईएसआईएस पर हमले से जुड़ा प्लान था। वॉशिंगटन पोस्ट ने अमेरिका के दो ऑफिशियल्स के हवाले से यह दावा किया है।


- वॉशिंगटन पोस्ट का आरोप है कि ट्रम्प ने आईएसआईएस के बारे में ऐसी जानकारी साझा की, जो अमेरिका को उसके एक सहयोगी ने दी थी।


- व्हाइट हाउस में ट्रम्प के एडवाइजर एचआर मैकमास्टर ने शुरुआती तौर पर आरोपों को खारिज किया है। उनका कहना है कि रिपोर्ट झूठी है।


- उन्होंने कहा, "रूस के फॉरेन मिनिस्टर और एंबेसडर ने सिविल एविएशन समेत सिक्युरिटी से जुड़े कुछ साझा मसलों का रिव्यू किया था। मैं उस वक्त कमरे में था, ऐसा कुछ नहीं हुआ।"


- मैकमास्टर के मुताबिक, प्रेसिडेंट ने ऐसी कोई जानकारी साझा नहीं की जो पहले से उजागर नहीं थी।


- व्हाइट हाउस ने इन आरोपों पर एक स्टेटमेंट जारी कर सफाई दी है। अमेरिका के फॉरेन सेक्रेटरी रेक्स टिलर्सन ने कहा कि यह मीटिंग सिर्फ काउंटर टेररिज्म पर थी। वहीं, डिप्टी नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर डिना पॉवेल ने कहा कि वॉशिंगटन पोस्ट के आरोप झूठे हैं।


- दूसरी तरफ अमेरिका के एक ऑफसर का कहना है कि रूस को दी गई इन्फॉर्मेशन बेहद सीक्रेट थी। उस तक सिर्फ खुफिया ऑफिसर्स ही पहुंच सकते थे।


- उनका कहना है कि ट्रम्प के इस खुलासे के बाद ऑफिसर्स ने अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए और नेशनल सिक्युरिटी एजेंसी (एनएसए) को इसकी जानकारी दी।