भारत में ISIS के लिए भर्ती करने वाला ग्लोबल टेररिस्ट

नई दिल्ली ( 16 जून ): भारत में आईएसआईएस के लिए भर्ती करने वाले मोहम्मद शफी अरमार को अमेरिका ने वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया है। भारत के लिए यह बड़ी उपलब्धि है। अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट ने बताया है कि उसने मोहम्मद शफी अरमार, ओसामा अहमद अतार और मोहम्मद ईसा युसूफ साकर अल बिनाली को स्पेशली डेजिग्नेटिड ग्लोबल टेररिस्ट (एसडीजीटी) की सूची में डाल दिया है। इसके साथ ही उसके खिलाफ प्रतिबंध लगाने का रास्ता साफ हो गया है।

शफी अरमार का नाम दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के रडार पर पहली बार 2011 में आया था। उन दिनों शफी अरमार और उसका भाई सुल्तान इंडियन मुजाहिदीन में थे और पाकिस्तान में रहते थे। आईबी और स्पेशल सेल ने 2011 में दरभंगा से इंडियन मुजाहिदीन के संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार किए थे। इनमें मुहम्मद कतील सिद्दीकी की गिरफ्तारी सबसे पहले की गई थी, जिसका मर्डर 2012 में पुणे की यरवदा जेल में कर दिया गया था। इन गिरफ्तारियों के बाद स्पेशल सेल ने एफआईआर नंबर 54/2011 दर्ज की थी। इन मुलजिमों से शफी अरमार के बारे में स्पेशल सेल को पहली बार जानकारी मिली थी। उसने तब आईएम की ओेर से इन युवकों का ऑनलाइन ब्रेनवॉश किया था।