तीसरे विश्व युद्ध की तैयारी: नॉर्थ कोरिया को जवाब देने के लिए यूएस ने ऑर्मी को किया तैयार


नई दिल्ली (3 सितंबर):
नॉर्थ कोरिया ने हाइड्रोजन बम परीक्षण करके एक बार फिर तीसरे विश्व युद्ध को हवा दे दी है। इसी परीक्षण के 20 मिनट के अंदर ही दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति ने अमेरिका से बातचीत की, जिसके बाद यूएस ने वहां पर ऑर्मी भेजने की तैयारी शुरू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका इस हाइड्रोजन बम परीक्षण को किसी भी हालत में हलके में लेने को तैयार नहीं है। जिसके बाद दक्षिण कोरिया और अमेरिका में बातचीत के बाद दोनों देशों ने इस मामले में कड़े कदम उठाने का निर्णय किया है। हालांकि नॉर्थ कोरिया के सबसे करीबी चीन ने भी इस घटना की निंदा करते हुए, जापान से कोई भी कदम नहीं उठाने को कहा है।

आपको बता दें कि उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया। यह हाइड्रोजन बम परमाणु बम से नौ गुना ताकतवर है। जिसके परीक्षण के बाद भूकंप के झटके भी महसूस किए गए। नॉर्थ कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने दावा किया था कि इसे बैलिस्टिक मिसाइल से जोड़ा जा सकता है।

भूकंप के झटके 9.8 गुणा अधिक शक्तिशाली
दक्षिण कोरिया की योनहाप संवाद समिति ने सरकारी मौसम एजेंसी के हवाले से बताया कि उत्तर कोरिया में आज आए ‘‘कृत्रिम भूकंप’’ की तीव्रता प्योंगयांग के पांचवें परीक्षण के कारण आए झटके से 9.8 गुणा अधिक शक्तिशाली थी। कोरिया मेटीरियोलॉजिकल एडमिनिस्ट्रेशन के एक अधिकारी ने योनहाप को बताया कि यह ‘‘पिछले साल सितंबर में किए गए परमाणु परीक्षण से ही 9.8 गुणा अधिक शक्तिशाली नहीं था, बल्कि यह सबसे शक्तिशाली था’’। परमाणु सशस्त्र प्योंगयांग अपने कट्टर दुश्मन अमेरिका तक परमाणु मिसाइल दागने में सक्षम होने के तरीकों को लंबे समय से तलाश रहा है।