पीएम मोदी के दौरे से पहले अमेरिकी संसद में पाक के खिलाफ बिल पेश

नई दिल्ली (24 जून): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका की यात्रा से पहले अमेरिकी संसद में दो सांसदों ने एक बिल पेश किया है, जिसमें पाकिस्तान का अहम 'गैर-नाटो सहयोगी' (एमएनएनए) दर्जा रद्द करने की मांग की गई है। एमएनएनए के तहत, देशों को रक्षा सामग्री पहुंचाने में प्राथमिकता दी जाती है।


 गौरतलब है कि पाकिस्तान को यह दर्जा 2004 में दिया गया था। अमेरिकी सासंद टेड पो ने कहा कि, पाकिस्तान को अमेरिकी खून के लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। पाकिस्तान ने जिद से इनकार कर दिया, किसी भी अर्थपूर्ण तरीके से, आतंकवादी जो सक्रिय रूप से विपक्षी विचारधारा को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं। समय और समय फिर, पाकिस्तान ने अमेरिका की सद्भावना का लाभ उठाया है और दिखाया है कि वे कोई दोस्त नहीं हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका के सहयोगी, 'नोलन ने कहा कि वास्तव में, अब तक हम अरबों डॉलर पाकिस्तान को भेज चुके है। 15 साल से आतंकवाद से लड़ने और हमें सुरक्षित बनाने के लिए पाकिस्तान ने कुछ भी नहीं किया है।'