चीन और अमेरिका के बीच जंग !, बढ़ा तनाव

नई दिल्ली (4 सितंबर): उत्तर कोरिया के मसले पर चीन और अमेरिका के बीच जंग जैसे हालात बनते जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जहां उत्तर कोरिया के सनकी तनाशाह किम जोंग को किसी भी सूरत में सबक सिखाने की तैयारी में हैं वहीं चीन का कहना है कि अगर अमेरिका उत्तर कोरिया के खिलाफ सैन्य कार्रवाई करता है तो इसके परिणाम गंभीर होंगे। चीन और रूस उत्तर कोरिया के खिलाफ किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई के खिलाफ है। चीन का कहना है कि राष्ट्रपति ट्रंप का उत्तर कोरिया को धमकी गलत है और ये किसी भी तरह स्वीकार्य नहीं होगा

इधर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को चेतावनी दी है कि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं और वो उसके खिलाफ सैन्य कार्रवाई भी कर सकता है। साथ ही राष्ट्रपति ट्रंप ने चीनी राष्ट्रपति जिंगपिंग और रूस के राष्ट्रपति पुतीन से उत्तर कोरिया के खिलाफ कार्रावाई की अपील की है। 

वहीं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अमेरिका और उत्तर कोरिया विवाद के बड़े युद्ध में तब्दील होने की चेतावनी दी है। कहा है कि उत्तर कोरिया पर दबाव बढ़ाने के घातक परिणाम सामने आ सकते हैं। किसी पूर्व शर्त, आक्रामकता, भड़काऊ बयान से मामला बिगड़ सकता है। कोरियाई प्रायद्वीप के हालात बिगड़ रहे हैं। इसलिए संबद्ध पक्ष सीधे वार्ता के जरिये मतभेद और समस्याएं सुलझाएं।

इन सबके बीच खबर आ रही है अमेरिका अगर उत्तर कोरिया के खिलाफ किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई करता है तो चीन और रूस अमेरिका के खिलाफ उत्तर कोरिया का साथ दे सकता है। 


आपको बता दें कि उत्तर कोरिया का सनकी तानाशाह किम जोंग पूरी दुनिया की अनदेखी कर एक के बाद एक लगातार परमाणु परीक्षण करने में जुटा है। उत्तर कोरिया ने रविवार को सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण कर पुरी दुनिया को चिंता में डाल दिया है। उत्तर कोरिया ने कल हाइड्रोजन बम विस्फोट का परीक्षण किया। उत्तर कोरिया की इस हरकत के बाद अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया समेत कई देश सकते में है।