सैनिक ने खींची अपनी ही शहादत की तस्वीर, अमेरिकी सेना ने 4 साल बाद बताई सच्चाई


नई दिल्ली(5 मई): क्या आप सोच सकते हैं कि कोई सैनिक अपनी शहादत की तस्वीर खींच सकता है। नहीं ना। ये सुनने में भी अजीब लगता है, लेकिन ऐसा हुआ है। 22 साल की उम्र में अमेरिकी सेना के लिए अपने प्राण गंवाने वाली हिल्डा क्लाइटन ने कुछ ऐसा ही कर दिया था।


- चार साल पहले वह अफगानिस्तान में एक मोर्टार विस्फोट में शहीद हो गई थीं। क्लाइटन महिला युद्ध फोटोग्राफर थीं।


- घटना के दिन यानी 2 जुलाई 2013 को वह अफगानिस्तान के लागमान प्रांत में आग लगने के दौरान प्रशिक्षण की तस्वीरें खींच रही थीं। तभी मोर्टार में विस्फोट गया है। इसमें पांच लोगों की मौत हुई। चार अफगानिस्तान की सेना के जवान थे और एक क्लाइटन थीं।


- अब अमेरिकी सेना ने हादसे की दो तस्वीरें जारी की हैं। इनमें से एक अफगानिस्तान के सैनिक ने जबकि दूसरी खुद क्लाइटन ने खींची थी। तस्वीरों की क्लाइटन के परिवार की रजामंदी से साझा किया गया है।