9/11 के आतंकी हमलों की रिपोर्ट आने से बिगड़ सकते हैं अरब-अमेरिकी रिश्ते

नई दिल्ली (25 अप्रैल): सऊदी अरब और अमेरिका के रिश्तों में तल्खी के आसार नज़र आ रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि 9/11 को ट्विन टावर्स हुए आतंकी हमलों में सऊदी कनैक्शन था। यह बात इस हमले की जांच करने वाली अमेरिकी संसद समिति की जांच रिपोर्ट में कही गयी है। इस जांच समिति की रिपोर्ट का एक हिस्सा ओबामा प्रशासन जल्दी ही सार्वजनिक करने वाला है। 

सऊदी अरब ने इन्हीं खबरों के मद्देनज़र अमेरिका को धमकी भी दी थी कि अगर 9/11 के आतंकी हमलों से सऊदी अरब का नाम जोड़ा गया तो वो अरब में अमेरिकी संपत्तियों को नीलाम कर देगा। इन्हीं सब नरम-गरम माहौल के बीच ओबामा ने सऊदी अरब का दौरा किया और तल्खियों को कम करने की कोशिश की, लेकिन ईरान के प्रति अमेरिका के नरम पड़े तेवरों से सऊदी अरब ने फिर से त्यौरियां चढ़ा ली थीं।

अमेरिकी संसदीय जांच समिति के सह-अध्यक्ष बॉब ग्राह्म ने कहा है कि 9/11 आतंकी हमलों की जांच रिपोर्ट के 28 पन्नों की पहली रिपोर्ट को सार्वजनिक करने का फैसला अभिसूचना इकाई पर निर्भर करता है। हालांकि उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट में स्पष्ट है कि अमेरिका पर किये गये हमलों में स्पष्ट रूप से सऊदी अरब का सहयोग था।