चीन की शामत, दुनियाभर में ड्रैगन के खिलाफ उठने लगे हैं आवाज


नई दिल्ली (7 अगस्त):
चालबाज चीन की जल्द हेकड़ी निकलने वाली है। डोकलाम के मुद्दे पर भारत को युद्ध की धमकी देने वाले ड्रैगन की मुश्किलें जल्द बढ़ने वाली है। चीन कि विस्तारवादी नीति के खिलाफ दुनियाभर में आवाज उठने लगी है। साउथ चाइना सी के मसले पर ड्रैगन के खिलाफ अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान एक जुट होता दिख रहा है। 

अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया ने एक संयुक्त बयान जारी कर स्पष्ट रूप से चीन की इस मुद्दे लेकर कड़ी आलोचना की है। बयान में कहा गया है कि साउथ चाइना सी में जमीन पर दावा, आउटपोस्ट्स के निर्माण, विवादित इलाकों के सैन्यीकरण को लेकर किसी भी तरह की आचार संहिता कानूनी रूप से बाध्यकारी, सार्थक और प्रभावी होनी चाहिए। तीनों देशों ने चीन और फिलीपींस ने अपील की है कि उन्हें पिछले साल अंतरराष्ट्रीय पंचाट द्वारा दिए गए फैसले का आदर करना चाहिए जिसमें चीन के दावों को काफी हद तक खारिज कर दिया गया था।

आपको बता दें कि साउथ चाइना सी के लगभग पूरे इलाके पर चीन अपना दावा जताता है। इसके जरिए सालना 5 ट्रिलियन डॉलर का कारोबार होता है और वहां तेल और गैस के बड़े भंडार होने की बात कही जाती है। चीन के इस दावे को लेकर उसका वियतनाम, फिलीपीन्स, मलयेशिया, ब्रुनेई सहित आसियान के सभी 10 सदस्य देशों और ताइवान के साथ भी विवाद है।