अमेरिका के इस हथियार से ISIS का बचना मुश्किल

नई दिल्ली(13 अक्टूबर): हॉलीवुड फिल्मों में आपने अब तक एक ऐसे हथियार को देखा होगा जिसे अक्सर एलियन इस्तेमाल करते हैं, ये हथियार एक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक शॉक क्रियेट करता है जिससे बिजली से चलने वाली सभी चीज़ें खराब हो जाती हैं, लेकिन अब  अमेरिकी एयरफ़ोर्स ने भी ऐसी ही क्षमताओं वाला एक हथियार विकसित कर लिया है। 

-अमेरिकी एयर फोर्स ने इसे इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्लस वीपेन का नाम दिया है। अमेरिका जल्द ही इसे ISIS जैसे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ लड़ाई में इस्तेमाल कर सकता है। 

- ये हथियार किसी भी तरह के इलेक्ट्रिकल सिस्टम को चुटकियों में तहस-नहस कर सकता है। इस हथियार की सबसे अच्छी बात ये है कि ये तय निशाने पर ही हमला करने में सक्षम है इसलिए कोलेटरल डैमेज (जान-माल का नुक्सान) की आशंका बेहद कम रहती है। इसका हथियार का नाम एयरफ़ोर्स ने Ocean’s 11 रखा है। इसे बम की कैटेगरी में लिस्टेड किया गया है लेकिन ये बम अपने निशाने के आलावा आस-पास की किसी चीज़ को नुक्सान नहीं पहुंचाता है। 

- फिलहाल इस हथियार को CHAMP यानी Counter-electronics High-powered Microwave Advanced Missile Project के नाम से जाना जाता है। अमेरिकी सेना के मुताबिक वो लोग ऐसा हथियार डवलप करना चाहते थे जो न्यूक्लियर बम की क्षमता रखता हो लेकिन मासूम जनता के जान-माल का नुक्सान कम से कम हो। अभी जिन हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है वो शहरों या आबादी वाले इलाकों में लोगों के लिए बेहद क्रूर साबित होते हैं। ये बम सीधे टारगेट के सभी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक यंत्रों को ख़राब कर देंगे जिसके बाद उन्हें आसानी से निशाना बनाया जा सकेगा।