हाफिज सईद की पार्टी को आतंकी लिस्ट में डाल सकता है अमेरिका

नई दिल्ली (23 दिसंबर): अमेरिका का कहना है कि वह एक करोड़ डॉलर के इनामी, मुंबई हमलों के मास्टर माइंड जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद के पाकिस्तान में साल 2018 में होने वाले आम चुनाव में हिस्सा लेने की संभावनाओं के तहत काफी चिंतित है। जमात-उद-दावा प्रमुख और लश्कर-ए-तैयबा संस्थापक पहले इसकी पुष्टि कर चुका है कि उसका संगठन जमात-उद-दावा पाकिस्तान में साल 2018 में होने वाले आम चुनावों में मिल्लि मुस्लिम लीग के बैनर तले चुनाव लड़ेगा।  

हाफिज सईद कभी कश्मीर मसले को लेकर भारत के खिलाफ जहर उगलता है, तो कभी अमेरिका के खिलाफ मार्च निकालता है। उसका मानना है कि भारत और अमेरिका के दबाव में पाकिस्तान ने उसको करीब 10 महीने तक नजरबंद रखा था, वहीं, अमेरिका ने मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज़ सईद की राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (MML) समेत कई अन्य पाकिस्तानी संगठनों को आतंकी सूची में डालने के मूड में है। 

सूत्रों की मानें तो अमेरिका की ओर से यह सख्त कार्रवाई जल्द ही की जा सकती है। भारत की अपील पर एक्शन लेते हुए अमेरिका कई पाकिस्तानी संगठनों को आतंकी संगठन मान रहा है। हाल ही में नई दिल्ली में हुई भारत और अमेरिका के बीच एक कॉन्फ्रेंस में इस बात की अपील की गई थी।