सीढ़ी से LoC पार कर ली 19 जवानों की जान

नई दिल्ली (16 अक्टूबर): उरी में सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों ने बताया है कि जिन चार आतंकवादियों ने कैंप पर हमला किया था, एलओसी पर बिजली के करंट वाली बाड़ सीढ़ी से पार की थी।

आपको बता दें कि इस हमले में 19 सैनिक शहीद हो गए थे। सूत्रों ने बताया कि सेना ने इन चारों आतंकवादियों के घुसपैठ के रास्ते की पहचान के लिए जांच की और वह इस निष्कर्ष पर पहुंची कि सलामाबाद नाले के समीप सीढियों का इस्तेमाल किया गया था।

सैन्य अधिकारियों ने बताया कि इन चारों आतंकवादियों में से एक सलामाबाद नाले के समीप बाड़ में थोड़ी सी खाली जगह का इस्तेमाल कर इस पार आ गया और उसने इस तरफ से बाड़ पर एक सीढी लगा दी, जबकि दूसरी तरफ से उसके तीन साथियों ने दूसरी सीढी लगा दी। दोनों सीढ़ियों को 'पैदल पार पथ' की तरह जोड़ दिया गया था। श्रीनगर से करीब 102 किलोमीटर दूर उरी में इन चारों ने सैन्य शिविर पर दुर्दांत हमला किया था।

सूत्रों के अनुसार बाड़ में जिस थोड़ी सी खुली जगह से पहला आतंकवादी इस तरफ आया, उससे सभी चारों के लिए घुसपैठ करना मुश्किल था, क्योंकि हरेक के पास भारी मात्रा में गोलाबारूद, हथियार एवं खाने पीने की चीजों वाले बडे-बड़े बैग थे। उन्हें इस तरह बाड़ पार करने में काफी वक्त लगता और उनकी जान को बड़ा जोखिम भी था क्योंकि ऐसा करते वक्त इलाके में नियमित रूप से गश्त करने वाली सैन्य टीमें उन्हें देख लेतीं।