उरी हमले में पिता शहीद, बेटियां एग्जाम देने पहुंचीं

नई दिल्ली(20 सितंबर): जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में रविवार को आतंकी हमले में शहीद हुए गया के सुनील कुमार विद्यार्थी की बेटियों ने हौसले की मिसाल पेश की है। पिता के शहीद होने के बाद बच्चियों के आंसू थम नहीं रह थे, लेकिन पढ़ाई की भी चिंता थी। घर में गमगीन माहौल के बाद भी ये बेटियां एग्जाम देने स्कूल पहुंचीं।

- सोमवार को डीएवी मेडिकल स्कूल में शहीद सुनील की तीनों बेटियां आरती, अंशु और अंशिका एग्जाम ने पहुंचीं। इन बच्चियों को देख प्रिंसिपल आशीष कुमार भी हैरान थे। वह तीनों के पास गए और उन्हें सांत्वना दी।

- स्कूल मैनेजमेंट ने इन बच्चियों का सोमवार काे एग्जाम तो लिया, लेकिन आने वाले पेपर्स में उन्हें गैरहाजिर रहने की छूट दे दी। इनके लिए अब अलग से एग्जाम कंडक्ट किया जाएगा।

- सुनील बोकनारी के रहने वाले थे, जहां मातम पसरा है। उन्होंने 1998 में आर्मी ज्वॉइन की थी। शहीद की पत्नी ने बताया- दो दिन पहले ही सुनील से बात हुई थी। उन्होंने बताया कि दशहरे की छुट्टी मंजूर हो गई है। 3 महीने पहले ही उनकी पोस्टिंग जम्मू हुई थी। सुनील की तीन बेटियां और 2 साल का एक बेटा है।