BIG BREAKING: उरी हमले में सीधे-सीधे पाकिस्तान सेना का हाथ

नई दिल्ली (22 सितंबर): उरी में सेना के कैंप पर आतंकी हमले की जांच कर रही एनआईए की टीम ने पाया है कि इसमें पाकिस्तान की सेना का हाथ है। एनआईए की टीम ने पाया है कि आतंकियों ने अपनी जीपीएस लोकेशन को डिलीट कर दिया था।

एनआईए की टीम के हाथ लगे यह सबूत: - आतंकियों ने अपनी लास्ट लोकेशन को जीपीएस से डिलीट कर दिया था। - एनआईए को आतंकियों के पास से दो डेमेज रेडिया सेट भी मिले। - दोनों रेडिया सेट को राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन भेज दिया गया है, ताकि उनकी frequency का पता लगाया जा सके। - आतंकी डिजिटल कोड का प्रयोग करते थे ताकि उनके रूट का पता नहीं लगाया जा सके। - आतंकियों के पास से बरामद किए गए सेटेलाइट फोन जापान हैं। - इन सेटेलाइट फोन को चलाने के लिए काफी प्रशिक्षित होना जरूरी है। - इन सेटेलाइट फोन को मिलिट्री एक्सपर्ट की चला सकते हैं। - इन्हीं बातों से साफ पता चलता है कि उरी हमले में पाकिस्तान की सेना का हाथ है।