BREAKING NEWS: अब नहीं बचेगा पाक! सरकार के आदेश का इंतजार, सेना है पूरी तरह तैयार

शैलेश कुमार, नई दिल्ली (26 सितंबर): रक्षा सूत्रों के मुताबिक उरी हमले के बाद पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए भारतीय सेना ने कमर कस ली है। हालांकि भारतीय सेना पहले से ही तैयार थी, लेकिन उच्च रक्षा सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना ने रीडेप्लॉयमेंट किया है। जो रिज़र्वस मूव किये थे, उन्होंने अपनी पोजीशन ले ली हैं। लोजिस्टिक्स और सपोर्ट पूरी तरह तैयार है।

उरी हमले के बाद नई परिस्तिथियों के मुताबिक भारतीय सेना अब ऐसी मिलिट्री ऑपरेशनल स्थिति में आ गई है, जिससे लाइन ऑफ़ कंट्रोल पर हिंदुस्तानी सेना किसी भी तरह के विकल्पों को अलग-अलग स्तर पर बहुत ही कम समय में अंजाम दे सकती है। ये ध्यान देने की बात है कि ये रीडिप्लॉयमेंट फोर्स मोबिलाइजेशन नहीं है। हिंदुस्तान ने आखिरी बार फोर्स मोबिलाइजेशन 1971 में किया था।

विशेष तौर पर पीओके में 17-18 आतंकवादी कैम्पों के शिफ्ट होने की सूचना पर एक उच्च रक्षा सूत्र ने बताया ये मिलिट्री आपरेशन के नज़रिए से बहुत अच्छा है। पहले तक़रीबन 38 कैंप पीओके में सक्रिय थे जो अलग-अलग इलाकों में थे, लेकिन इन कैम्पों के एक जगह इकट्ठा होने से भारतीय सेना को मिलिट्री आपरेशन में मदद मिलेगी।

चार पाकिस्तानी आतंकवादियों ने उरी सेक्टर में सेना की एक यूनिट की ड्यूटी अदला-बदली के दौरान हमला किया था, जिसमे 18 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। सूत्रों के मुताबिक इस हमले के बाद घुसपैठ की गई। उरी सेक्टर और नौगाम में कोशिश हुई, जिसे भारतीय सेना ने नाकाम किया और 10 घुसपैठिए आतंकियों को मार गिराया। हालांकि सेना ने आधिकारिक तौर पर इस घटना की अभी तक पुष्टि नहीं की है।

नई जानकारी के मुताबिक भरतीय सेना पूरी तरह से ऑपरेशनल रेडीनेस पोजीशन में हैं और उसे बस किसी भी मिलिट्री आपरेशन के लिए सरकार का आदेशभर मिलने की देर है। हम यहां बताते चलें किनुरी हमले के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भी वॉर रूम में सेना की तैयारियां, प्लान, एक्शन से उपजने वाली परिस्थितियों, काउंटर एक्शन, अल्टरन्ते और कंटिंजेंसीय प्लान का जायजा लिया था। उसी के बाद उपजी नयी परिस्तिथि से निपटने के लिए सेना ने ऑपरेशनल रेडिनेस हासिल की है।