ABDMM का आरोप, 'UPSC इंटरव्यू में SC/ST अभ्यर्थियों को जनरल कैटेगरी से मिले कम अंक'

नई दिल्ली (4 जून): अखिल भारतीय दलित एवं मुस्लिम महासंघ (एबीडीएमएम) ने शुक्रवार को यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (पीएससी) की चयन प्रक्रिया पर सवाल खड़ा किया। दलितों और मुस्लिमों के अधिकारों की वकालत करने वाले इस नॉन प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन ने इस साल सिविल सर्विस परीक्षा में चयन प्रक्रिया के बारे में ये सवाल उठाए हैं।

अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, एबीडीएमएम की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, इस साल की परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने वाले अनुसूचित जाति और जनजाति के अभ्यर्थियों को इंटरव्यू में साधारण वर्ग कमतर अंक दिए गए। 

एबीडीएमएम की दलील है कि कई एससी-एसटी अभ्यर्थियों ने लिखित परीक्षा में साधारण वर्ग के अभ्यर्थियों की तुलना में ज्यादा अंक हासिल किए थे। लेकिन इंटरव्यू में उन्हें कमतर अंक दिए गए। 

संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष, सुरेश कनौजिया ने कहा, "इसका मतलब है साधारण वर्ग के अभ्यर्थियों के पास एससी/एसटी अभ्यर्थियों की तुलना में एक सहारा मिलता है। जब आईएएस कैडर को क्वालिफाई करने की बात आती है।"