यूपी: दूल्हे को घोड़ी से उतार, जाति सूचक शब्दों का किया इस्तेमाल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 दिसंबर):  उत्तर प्रदेश के योगी राज में गुंडो के हौंसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। इन गुंडो पर योगी राज की पुलिस भी काबू करने में नाकाम साबित दिखाई दे रही है। दरअसल, यूपी से अब एक और शर्मनाक घटना सामने आ रही है। यूपी के एटा में ठाकुर बिरादरी के कुछ युवकों ने दलित युवक की बारात के दौरान उस पर हमला कर दिया और उसे घोड़ी से उतार दिया और विवाह स्थल तक पैदल जाने के लिए मजबूर किया।

थाने में एफआईआर के मुताबिक उच्च जाति के युवकों ने बारात में शामिल लोगों पर पत्थरबाजी की और उन्हें जातिसूचक शब्द बोलकर गालियां दीं। जिले के असरौली गांव में यह घटना सामने आई है। घटना के बाद से इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है। पुलिस के मुताबिक बुधवार को गांव में दो शादियां थीं। ठाकुर बिरादरी की एक बारात निकली थी, जिसके बाद दलित समुदाय की भी एक शादी थी। गौरतलब है कि दलित युवक की बारात जैसे ही निकलती तो नशे में धुत ठाकुर बिरादरी के युवकों ने हमला कर दिया। 

आरोपों के मुताबिक उन्होंने दूल्हे को गालियां दीं और विवाह स्थल तक पैदल ही जाने के लिए मजबूर किया। एसपी क्राइम ओपी सिंह ने बताया कि इस मामले में दो एफआईआर दर्ज कराई गई हैं। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर क्रॉस एफआईआर कराई हैं। हालांकि ये यूपी में कोई पहला मामला नहीं है जब किसी दलित दूल्हे को उसकी बारात में घोड़ी से उतारकर जाति सूचक शब्द कहे गए हों। इससे पहले भी यूपी के कासगंज में ऐसी ही घटना उजागर हुई थी।