मोदी के मंत्री का 15 अक्टूबर को शिक्षा बचाओ सम्मेलन, कांग्रेस-आरजेडी को न्यौता

नई दिल्ली (28 जुलाई): बिहार की नई जेडीयू-एनडीए सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विधानसभा में अपना बहुमत हासिल कर लिया। विश्वासमत वोटिंग या ध्वनिमत से नहीं बल्कि लाॅबी डिवीजन से हासिल किया गया। 243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार की पार्टी के पास 71 विधायक हैं, जबकि सहयोगी भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के पास 61 विधायक हैं। इसके भाजपा के 58 विधायक हैं।

उधर, एनडीए के घटक दल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के नेता व केंद्रीय राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार के राजनीतिक समीकरण के बदलने के संकेत दिये हैं। उन्होंने मीडिया से कहा है कि 15 अक्तूबर को रालोसपा का नालंदा में महासम्मेलन होगा होगा।

उपेंद्र कुशवाहा का आक्रोश दिखाओ शिक्षा बचाओ कार्यक्रम पटना के गांधी मैदान में 15 अक्टूबर को आयोजित होगा। आक्रोश दिखाओ शिक्षा बचाओ महासम्मेलन में  कांग्रेस और राजद को निमंत्रण दिया जायेगा।