अखिलेश के 'उत्तम प्रदेश' में जमीन पर होता है ईलाज

वसीम सिद्दीकी, बस्ती (6 अगस्त): उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं का हाल इस कदर बेहाल हो चुका है कि अब डाक्टर और कंपाउंडर गरीब मरीजों का ईलाज अस्पताल के फर्श पर ही लिटाकर कर रहे हैं और उन्हें फर्श से ही रेफर कर दे रहे हैं।

कप्तानगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दोपहर को जब पेट दर्द की शिकायत लेकर एक महिला पहुंची तो यहां मौजूद डाक्टर ने उसे एक बैड तक मुहैया नहीं कराया। तकरीबन एक घंटे तक महिला अस्पताल परिसर में जमीन पर ही पड़ी रही और दर्द से कराहती रही। कुछ देर बाद जब महिला के परिजन ईलाज की दुहाई लेकर एक बार फिर पहुंचे तो डाक्टर साहब ने अस्पताल के वार्ड बाय रामसनेही से महिला को जमीन पर लिटाकर इंजेक्शन लगवा दिए।

दो इंजेक्शन लगाने के बाद अस्पताल कर्मचारियों ने महिला को जिला अस्पताल ईलाज कराने के लिए रेफर कर दिया। पीड़‍ित महिला के परिजन 108 एम्बुलेंस की सेवा के लिए प्रयास किए लेकिन उन्हें उसका लाभ नहीं मिला। काफी थक-हार कर आखिरकार टैम्पो से महिला को जिला अस्पताल के ले जाया गया।