VIDEO: अस्पताल की शर्मनाक करतूत, बेटे के शव को कंधे पर ढोने को मजबूर पिता

अविनाश सक्सेना, इटावा (2 मई): यूपी के इटावा में अस्पताल की शर्मनाक करतूत सामने आई है। यहां एक शख्स को बेटे का शव ले जाने के लिए कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई गई। लिहाजा बेबस होकर वो कंधे पर अपने बेटे का शव ढोने को मजबूर हो गया।


खुद बीमार रहने वाले उदयवीर अपने 15 साल के बेटे पुष्पेंद्र को लेकर अपने गांव विक्रमपुर से एक नहीं बल्कि दो-दो बार 7-7 किलोमीटर की दूरी तय कर जिला अस्पताल पहुंचे। इस उम्मीद में कि शायद उनका लाल बच जाए, लेकिन अफसोस दोनों ही बार डॉक्टरों ने उसे मृत करार दे दिया।


पेशे से मजदूर उदयवीर खुद फेफड़े ख़राब होने की वजह से घर पर ही रहते हैं। उम्मीद थी कि आगे चलकर बेटे का सहारा मिलेगा, लेकिन उस उम्मीद पर पहाड़ टूट पड़ा। एक तो बेटे को खोने का दर्द और उस पर अस्पताल से मिला जख्म। इसे एक इंसान के साथ क्रूर मजाक नहीं तो और क्या कहेंगे?


वीडियो: