अब यूपी के स्कूलों में योगा के बारे में पढ़ेंगे छात्र

नई दिल्ली (13 अप्रैल): उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने स्कूलों में योग शिक्षा को बढ़ावा देने पर जोर दिया है। यूपी बोर्ड के 25 हजार से अधिक स्कूलों में नौंवी क्लास से इंटर तक एक करोड़ से अधिक स्टूडेंट्स को अब योग भी पढ़ाया जाएगा।


सब्जेक्ट के रूप में योग का स्वरुप तय करने के लिए बोर्ड मुख्यालय में 18 अप्रैल को पाठ्यक्रम समिति की बैठक बुलाई गई है।


- 9वीं से इंटर तक के नैतिक शिक्षा खेल एवं शारीरिक शिक्षा में 50 नंबर का अनिवार्य पेपर है, लेकिन इसके अंक रिजल्ट में नहीं जोड़े जाते हैं। अब रिजल्ट में अंक जोड़ने की बात कही गई है।

- पहले क्लास 9-10 में छह अंक योग शिक्षा तथा क्लास में 11-12 में पांच पांच निर्धारित थे, लेकिन अब यूपी बोर्ड चारों क्लास में ये अंक 20 करने का फैसला लिया है।

- नैतिक शिक्षा के 15 तथा खेल शारीरिक के 15 अंक मिलेंगे।

- पाठयक्रम में बदलाव के साथ ही विषय का नाम भी बदलने की तैयारी है।

- नैतिक खेल एवं शारीरिक शिक्षा से बदलकर नैतिक योग खेल व शारीरिक किया जाएगा।

- यूपी बोर्ड ने योग का कोर्स बढ़ाने के लिए पतंजलि योगपीठ व अन्य बाहरी विशेषज्ञों से मदद मांगी है।