शामली में न्यूज 24 के पत्रकार के साथ बदसलूकी मामले में कार्रवाई, जीआरपी इंस्पेक्टर और कांस्टेबल को किया गया सस्पेंड

Shamli GRPन्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 जून): क्या यूपी में पत्रकार खतरे में हैं ? ये सवाल इसलिए अहम है क्योंकि यूपी में शामली में जीआरपी ने न्यूज़ 24 के पत्रकार अमित कुमार शर्मा से साथ अमानवीय वर्ताव किया है। जीआरपी के एसएचओ राकेश कुमार और जीआरपी के कुछ सिपाही ने जबरदस्त पिटाई की। वो सिर्फ इसलिए क्योंकि कुछ दिन पहले पत्रकार अमित ने ट्रेनों में वेंडर पर एक स्टोरी की थी। जिससे ये अधिकारी बौखला गए और इन्होंने अमित के साथ मारपीट की और लॉकअप में भी बंद कर दिया। न्यूज़ 24 लगातार ये खबर दिखा रहा है और सवाल पूछ रहा है कि आखिर जीआरपी के इन अधिकारियों पर कड़ा एक्शन कब होगा। देर से सही लेकिन अब प्रशासन जागा है और जीआरपी के एसएचओ राकेश कुमार और जीआरपी के सिपाही संजय पवार को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही पत्रकार अमित को बाइइज्जत छोड़ने का आदेश दिया है।

पूरा मामला यूपी के शामली धीमानपुरा फाटक की है। जहां स्टेशन की तरफ से मालगाड़ी के दो पहिए धमाके के साथ पटरी से उतर गए थे। सूचना पर जीआरपी पुलिस मौके पर पहुंच गई। साथ ही न्यूज़ 24 पत्रकार अमित कुमार भी मौके पर पहुंचे और रिपोर्ट तैयार करने लगे लेकिन इस दौरान सादी वर्दी में एक पुलिसकर्मी ने  न्यूज़ 24 पत्रकार अमित कुमार पर हमला कर दिया। इसके बाद तो जो हुआ वो शर्मनाक था। वो हुआ जिसने इंसानियत को मौत के घाट उतार दिया था। वो हुआ जिसने चंद मिनटो में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र शर्म से छोटा कर दिया था और वो भी हुआ जो इस समाज पर किसी सदमें से कम नहीं था।  इस गुंडा रेलवे पुलिस की गुंडगर्दी चरम पर थी। इस गुंडा रेलवे पुलिस की बेर्शमी चरम पर थी। थाने में कानून को एक किनारे रख कर मनमानी के महौल में बेईमानी का तमाशा चल रहा था। अमानवीय याताओं को आलम ये था कि जिन्हें बाताना हमारे लिए मुमकिन नहीं। एक इंसान के साथ ऐसा गैरइंसानी सलूक किया गया कि शर्म को भी शर्म आ जाए। जीआरपी थाने में सच्चाई को धर्म और सच को दिखाने वाले पत्रकार सलाखों के पीछे से अपनी बेगुनाही की सबूते दे रहा था और सादी वर्दी में कुर्सी पर किसी गुंडे की तरह बैठे इस शख्स कानून में बची कुची आस्था को अर्थी पर ला दिया था। अमित कुमार का कहना है कि मालगाड़ी पटरी से उतर गई थी। मैं उसकी खबर बना रहा था। इन्होंने मेरे कैमरे पर हाथ मारा और उसके बाद मेरे साथ मारपीट की। एसओ की पद पर तैनात राकेश कुमार ने सिर्फ इस लिए ऐसा किया कि क्योंकि न्यूज़ 24 संवाददाता अमित कुमार ने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए ट्रेनों में चल रहे अवैध वेंडरों की चलाई थी और खबर के चलने के बाद राकेश कुमार को आलाधिकारियों का गुस्सा झेलना पड़ा था। जिसका बदला राकेश ने  न्यूज़ 24 संवाददाता अमित कुमार के साथा इंसानियत की सभी हदें पार कर के लिया।