यूपी: योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में जल्द होगा फेरबदल

नई दिल्ली ( 8 दिसंबर ): उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद पहली परीक्षा यानी निकाय चुनाव में सीएम योगी पास हो गए हैं। जिसके बाद सीएम योगी को उत्तर प्रदेश से बाहर भी कई राज्यों में प्रचार का जिम्मा सौंपा गया है। अब योगी उत्तर प्रदेश में बड़े बदलाव करने जा रहे हैं। खबर है सीएम अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल करने जा रहे हैं। साथ ही यूपी में कई और बड़े बदलाव भी होने वाले हैं। योगी की इस कवायद को अगले लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। 

दरअसल उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद निकाय चुनाव योगी की पहली अग्नि परीक्षा थी और योगी उसमें बेहतर परफॉर्मेंस देने में कामयाब हो गए। निकाय चुनाव की सफलता के तुरंत बाद ही योगी गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए भेजे गए। यानी योगी का दबदबा प्रदेश के बाहर दूसरे राज्यों में भी कायम हैं। जानकारी के मुताबिक अब सीएम योगी उत्तर प्रदेश में बड़ा बदलाव करने जा रहे हैं।

सीएम योगी निकाय चुनाव में परफॉर्मेंस के आधार पर मंत्रिमंडल में फेरबदल करेंगे। निकाय चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करने वाले मंत्रियों का कद बढ़ सकता है और जिन मंत्रियों के इलाकों में भाजपा का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है उनका कद घट सकता है। 

यही नहीं योगी ने एक दूसरे से जुड़े और सम्बंधित विभागों के विलय की भी तैयारी शुरू कर दी है। यानी अब एक जैसे विभागों का एक ही मंत्री होगा। ब्यूरोक्रेसी के परफॉर्मेंस के आधार पर उनका दायित्व और जिम्मेदारी तय होगी। नाकारा अधिकारियों को साइडलाइन किया जाएगा और बेहतर परफॉर्मेंस करने वाले अधिकारियों पोस्टिंग दी जाएगी। 

जानकारी के मुताबिक योगी सरकार के शुरुआती दौर में ही प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ने सरकार और संगठन के बीच बेहतर तालमेल की बात कही थी। कुछ मंत्रियों की शिकायत पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष शाह तक भी पहुंची थी। कुछ सांसदों ने मंत्रियों के खिलाफ शिकायत भी की थी। यही नहीं कुछ विधायक भी असंतुष्ट है। इस बीच सहयोगी दलों साथ भी तालमेल गड़बड़ाया है। लिहाजा योगी इसी उधेड़बुन में जुटे हैं।