विवादित स्थल के बजाय सरयू नदी के किनारे हो राम मंदिर का निर्माण: शिवपाल यादव

                                                                                                                    Photo Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 नवंबर): राम मंदिर को लेकर राजनैतिक पार्टियों की और से लगातार बयानबाजी जारी है। सभी राजनैतिक दल 2019 के चुनावों को लेकर भुनाने की जुगत में जुटे हैं एस बात से गुरेज नहीं किया जा सकता है। समाजवादी पार्टी (लोहिया) के सर्वेसर्वा और यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव ने रविवार को कहा, “यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है। हमें इस पर इंतजार करना चाहिए या फिर आम राय बनाने के लिए प्रयास करने चाहिए।

इतना ही नहीं शिवपाल ने आगे कहा कि सरकार के पास ढेर सारी जमीन है। मंदिर सरयू नदी के किनारे बनाया जा सकता है। विवादित स्थल पर मंदिर बनने की बात न ही तो अच्छा है।” अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जारी विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की विशाल धर्मसभा में रविवार (25 नवंबर) को स्वामी रामभद्राचार्य ने मांग उठाते हुए कहा कि हमें अयोध्या में पूरी जमीन चाहिए।

मीडिया से बात करते हुए शिवपाल ने कहा कि सरकार छह दिसंबर को कुछ करने वाली थी। पर आचार संहिता के कारण फैसला नहीं हो पा रहा है। मगर एक मंत्री ने मुझे भरोसा दिया है कि 11 दिसंबर के बाद मंदिर पर बड़ा फैसला होगा।” वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में एक रैली में कहा कि कांग्रेस मंदिर मुद्दे पर रोड़ा बनी। उसने न्यायिक प्रक्रिया में दखल दी और महाभियोग से डराने का प्रयास किया।