Blog single photo

कमलेश हत्याकांड: 4 दिन बाद भी हत्यारे फरार, पुलिस ने 2 आरोपियों की जारी की फोटो, जानकारी देनेवाले को इनाम

कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपियों का पुलिस ने पोस्टर जारी कर किया है। इनमें से एक का नाम अशफाक हुसैन उर्फ जाकिर हुसैन है और दूसरे आरोपी का नाम मोइनुद्दीन फरीद उर्फ खुर्शीद अहमद खान है

 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 अक्टूबर): कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपियों का पुलिस ने पोस्टर जारी कर किया है। इनमें से एक का नाम अशफाक हुसैन उर्फ जाकिर हुसैन है और दूसरे आरोपी का नाम मोइनुद्दीन फरीद उर्फ खुर्शीद अहमद खान है। इन दोनों आरोपियों की तीन-तीन तस्वीरें जारी की गई हैं। साथ ही पुलिस ने दोने पर ढाई-ढाई लाख रुपये का ईनाम भी घोषित कर रखा है। कमलेश तिवारी की हत्या के आरोप में महाराष्ट्र ATS ने नागपुर से सैय्यद असीम अली नाम के व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है। सैय्यद पर हत्या में शामिल आरोपियों के संपर्क में रहने का आरोप है। सैय्यद को महाराष्ट्र पुलिस ने यूपी पुलिस के हवाले कर दिया है।

इन सबके बीच पुलिस लगातार कमलेश तिवारी के हत्यारे की तलाश में जुटी है। सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध हत्यारों के देखे जाने के बाद एसटीएफ ने यहां ताबड़तोड़ छापेमारी की। इस बीच सीसीटीवी में दिखी इनोवा कार भी बरामद कर ली गई। बताया जा रहा है कि इसी गाड़ी के जरिए हत्यारे नेपाल जाने की फिराक में थे। गाड़ी के ड्राइवर को गुप्त जगह पर ले जाकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक हत्यारों ने इनोवा कार को पलिया से गौरीफंटा नेपाल बॉर्डर के लिए बुक कराया था, लेकिन जब तक वो वहां पहुंचे, नेपाल बॉर्डर बंद हो चुका था। जिसके बाद वो गाड़ी लेकर शाहजहांपुर पहुंचे थे। हत्यारों को छोड़ने के बाद गाड़ी का ड्राइवर खुटार में एक ढाबे पर खाना खाने लगा जहां से पुलिस ने उसे गाड़ी समेत दबोच लिया। ड्राइवर को किसी गुप्त जगह पर ले जाकर पूछताछ किये जाने की बात सामने आई है। 

(Image Credit: Google) 

आपको बता दें कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में अब तक 4 गिरफ्तारी हो चुकी हैं। सूरत से 3 आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद नागपुर से हिरासत में लिये गये सैयद असीम अली को गिरफ्तार कर यूपी पुलिस ने उसे ट्रांजिट रिमांड पर ले लिया है। सूत्रों के मुताबिक हत्या के बाद भी हत्यारों ने सैयद को फोन किया था। यूपी पुलिस अब सूरत से गिरफ्तार आरोपियों और सैयद को आने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी। इसके साथ ही इन गिरफ्तारी के अलावा कुछ लोग हिरासत में भी लिये जा चुके हैं। इन सबके अलावा तमाम सबूतों और सुरागों के मिलने पर भी यूपी पुलिस अभी तक हत्यारों तक नहीं पहुंच पाई है। जिससे उसके काम करने के तरीके पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top