News

कानपुर में पीएम मोदी और सीएम योगी ने स्टीमर के जरिए लिया गंगा सफाई का जायजा

कानपुर (Kanpur) के चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी (CSAU) में नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में पीएम (Pm) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने नमामि गंगे परियोजना पर मंथन किया। बैठक के बाद पीएम (Pm) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अटल घाट

Narendra Modi, नरेद्र मोदी

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(14 दिसंबर): कानपुर (Kanpur) के चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी (CSAU) में नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में पीएम (Pm) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने नमामि गंगे परियोजना पर मंथन किया। बैठक के बाद पीएम (Pm) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अटल घाट (Atal Ghat) पहुंचकर स्टीमर के जरिए गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। इससे पहले गंगा काउंसिल की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हिस्सा लिया। इस दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे।

इससे पहले पीएम ने यहां नमामि गंगे प्रदर्शनी का अवलोकन किया। बता दें कि पीएम मोदी यहां 'नमामी गंगे' परियोजना की समीक्षा करेंगे और गंगा पर इस योजना के प्रभाव देखने के लिए गंगा में नौकायन भी करेंगे। प्रधानमंत्री सीसामऊ नाले का सच भी देखेंगे। राम मंदिर मुद्दे के समाधान के बाद केंद्र सरकार के अजेंडे पर अब गंगा की सफाई का मुद्दा अब प्राथमिकता पर है, ऐसे में पीएम मोदी की यह यात्रा बेहद महत्‍वपूर्ण है।

गंगा काउंसिल की बैठक के बाद प्रधानमंत्री गंगा बैराज स्थित अटल घाट पहुंचे और गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। इससे पहले पीएम मोदी की यात्रा को लेकर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए। कड़े सुरक्षा इंतजामों के चलते सीएसएयू और गंगा बैराज के आसपास के गेस्ट हाउसों में एक दिन के लिए शादी समारोह आदि स्थगित कर दिए गए हैं। ट्रैफिक बंदिशों के चलते शहर के कई स्कूलों में छुट्टी का भी ऐलान किया गया है।

गंगा में डिस्चार्ज बढ़ा

गंगा में गंदगी न दिखे, इसके लिए सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने पूरा दम लगा दिया है। टिहरी और नरौरा से छोड़े गए पानी के चलते गंगा बैराज पर भी शुक्रवार सुबह से कई गेट खोलकर डिस्चार्ज बढ़ा दिया गया। सूत्रों के मुताबिक, सुबह 8 बजे तक 14 हजार 228 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा था। दोपहर 1 बजे यह मात्रा बढ़ाकर 16 हजार 702 क्यूसेक और शाम 8 बजे तक 17 हजार 733 क्यूसेक पानी रिलीज हो रहा था। वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नदियों में प्रदूषक तत्वों को डालने वाले सीवर और नालियों के बंद होने से नदी के जल में उल्लेखनीय परिवर्तन नजर आएगा। उन्होंने कहा, ‘सीसामऊ नाला, जो प्रतिदिन 140 मेगा लीटर गंदगी गंगा में डालता है, उसे अधिकारियों ने बंद करा दिया है। अब गंदगी को जाजमऊ और बिंगवान ट्रीटमेंट प्लांट की ओर मोड़ दिया गया है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top