योगी सरकार का बड़ा फैसला, शहीद जवानों के परिजनों को मिलेगी सरकारी नौकरी

नई दिल्ली (31 जनवरी): उत्तर प्रदेश मेें योगी सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए प्रदेश के शहीद सैनिकों के परिजनों के एक सदस्य को नौकरी देने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद उत्तर प्रदेश का कोई जवान अगर सीमा पर लड़ते हुए या आतंकियों से मुकाबला करते हुए, गोलाबारी, विस्फोट, आपदा या ड्यूटी के दौरान दुर्घटना में शहीद होता है तो राज्य सरकार शहीद सैनिक के किसी एक आश्रित को उसकी योग्यता के अनुसार नौकरी देगी।

इसका लाभ थल, जल और वायु सेना में कार्यरत सैनिकों व अधिकारियों के साथ सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), इंडो-तिब्बत बार्डर पुलिस (आइटीबीपी), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), असम राइफल्स और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स जैसे अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के आश्रितों को भी मिलेगा।

यह व्यवस्था एक अप्रैल, 2017 से लागू मानी जाएगी। लोकसेवा के अंतर्गत आने वाले पदों पर नौकरी नहीं मिलेगी। राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने इस फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार द्वारा शहीदों के परिजनों को दी जाने वाली बीस लाख रुपये की आर्थिक सहायता के अलावा सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। सरकारी नौकरी में शहीद के रक्त संबंधियों को वरीयता दी जाएगी।