यूपी में एनकाउंटर फिक्स है? हिस्ट्रीशीटर और पुलिस अधिकारी की बातचीत लीक

असद खान, झांसी (15 अप्रैल): यूपी को अपराध मुक्त बनाने के लिए सूबे में ताबड़तोड़ एनकाउंटर हो रहे हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक ऑडियो क्लिप ने यूपी में हो रहे एनकाउंटर के खेल को बेनकाब कर दिया है। एक हिस्ट्रीशीटर और पुलिस अधिकारी के बीच हुई बातचीत खाकी और बदमाशों के बीच साठगांठ का पर्दाफाश कर रही है।

झांसी के मऊरानीपुर थाने के थाना प्रभारी सुनीत कुमार और आतंक का पर्याय बन चुके पूर्व ब्लॉक प्रमुख लेखराज के बीच हुई बातचीत के एक वायरल ऑडिओ ने यूपी में हो रहे एनकाउंटर पर सवाल खड़े कर दिए हैं। कुछ ही दिन पहले झांसी में लेखराज और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी। करीब आधे घंटे की फायरिंग में लेखराज अपने साथियों और बेटों के साथ भागने में कामयाब रहा था। इस एनकाउंटर के ठीक अगले दिन मऊरानीपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार और हिस्ट्रीशीटर लेखराज के बीच टेलीफोन पर बातचीत हुई, जिसमें पुलिस अधिकारी लेखराज को ना सिर्फ एनकाउंटर के लिए फिट बता रहा है, बल्कि एनकाउंटर से बचने का तरीका भी बता रहा है।

बातचीत में साफ सुनाई दे रहा है कि पुलिस अधिकारी हिस्ट्रीशीटर को सरेंडर करने की सलाह दे रहा है। साथ ही कह रहा है कि सरेंडर नहीं किया तो एनकाउंटर में मार दिए जाओगे। दूसरी तरफ हिस्ट्रीशीटर पुलिस अधिकारी से मदद मांगता हुआ सुनाई दे रहा है।

हिस्ट्रीशीटर लेखराज जब पुलिस अधिकारी से कहता है कि मदद करो तो पुलिस अधिकारी उसे BJP के जिलाध्यक्ष संजय दुबे और बबीना के BJP विधायक राजीव सिंह परीक्षा को मैनेज करने की सलाह देता है। न्यूज 24 इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन इस ऑडियो के सामने आने के बाद सवाल उठ रहे हैं।

पुलिस अधिकारी ने तो लेखराज से सीधे-सीधे कह दिया कि 'अगला नंबर आपका'। पुलिस अधिकारी यह भी बताता है कि बदमाश की लोकेशन ट्रेस की जा रही है और अगर उसके साथ 20-50 आदमी भी हुए तो कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। इसी ऑडियो में एनकाउंटर पर एक और खुलासा हुआ है। हिस्ट्रीशटर जब अपने बेटों, नाती-पोतों की दुहाई देता है तो पुलिस वाला चौंकाने वाली बात बताता है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीते दिनों जब पुलिस लेखराज का एनकाउंटर करने गई थी, तब लेखराज इसलिए बच गया था क्योंकि पुलिस जानबूझकर हथियार लेकर नहीं, बल्कि खाली हाथ ही गई थी।

वीडियो: