यूपी की दूसरी लिस्ट जारी करेगी बीजेपी, घर के भीतर ही जबर्दस्त खींचतान

नई दिल्ली (19 नवंबर): बीजेपी आज यूपी में अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी करेगी, लेकिन इससे ठीक पहले टिकट बंटवारे को लेकर पार्टी में खींचतान तेज हो गई है। पहली लिस्ट में जगह नहीं मिलने से नाराज नेताओं के समर्थकों ने बुधवार को अमित शाह के घर के बाहर प्रदर्शन किया। वहीं बीएसपी छोड़कर बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य भी नाराज दिख रहे हैं।


उत्तर प्रदेश में परिवर्तन का बिगुल बजाने में जुटी बीजेपी को घर के भीतर ही जबर्दस्त खींचतान का सामना करना पड़ रहा है। बीजेपी यूपी के लिए उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी करने की तैयारी में है। लेकिन इससे पहले पहली लिस्ट पर ही कोहराम मच गया है।


बीजेपी ने 149 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट सोमवार को जारी की थी। इसमें कई दल-बदलुओं के नाम शामिल थे। बावजूद इसके बीएसपी छोड़कर बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे नेता नाराज हो गए। उन्होंने आलाकमान से दिल की टीस जाहिर कर दी है। यूपी में पिछड़ा कार्ड खेल रही बीजेपी को स्वामी प्रसाद मौर्य की नाराजगी महंगी पड़ सकती है।


दरअसल पिछड़े वोटरों में कुशवाहा और कोइरी यानी मौर्य समाज भी है। कुल वोटों में इनकी 3 से 4 फीसदी की हिस्सेदारी है। 40 से 50 सीटों पर इस समाज का बड़ा असर है। इसलिए बीजेपी मौर्य की नाराजगी खत्म करना चाहती है।


उधर, साहिबाबाद सीट से केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह के लिए टिकट की मांग कर रहे कार्यकर्ता भी सड़कों पर उतर आए। उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के घर के बाहर नारेबाजी की। यही नहीं ब्राह्मण समाज से जुड़े पार्टी नेता भी नाराज हैं। बीजेपी की पहली लिस्ट के 149 उम्मीदवारों में सिर्फ 12 ब्राह्मणों को टिकट मिला है। इसे बीजेपी के ब्राह्मण कार्यकर्ता पचा नहीं पा रहे।


पार्टी के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात पश्चिमी यूपी के कार्यकर्ताओं की नाराजगी है। यहां पहले दौर में 15 जिलों की कुल 73 सीटों पर मतदान होना है। वोटिंग 11 फरवरी को है, लेकिन दल बदलुओं को ज्यादा टिकट दिए जाने से जमीनी कार्यकर्ता यहां भी नाखुश हैं।