'शगुन और शगुनी' की शादी में शामिल हुए 5000 मेहमान, कार में विदा हुई 'दुल्हन'

नई दिल्ली(12 मार्च): भारत दुनिया में महंगी शादियां को लेकर काफी मशहूर है। भारत में जो भी शादियां होती हैं बड़े धूमधाम से होती हैं। लड़के-लड़की के घरवाले अपनी तरफ से शादी को भव्य बनाने का पूरा प्रयास करते हैं। इंसान की शादी में तो किसी भी तरह की कटौती करने से यहां बचा जाता है, लेकिन अब तो घर के पैट्स (पालतू जानवरों) की शादी भी बड़े धूमधाम से होने लगी है।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में देखने को मिला। यहां पर 'शगुन' और 'शगुनी' की शादी हुई। आप उलझें, इससे पहले ही बता दें कि शगुन और शगुनी इनसानों के नहीं बल्कि कुत्ते और कुत्तिया के नाम  हैं।  

शादी में 5000 से ज्यादा मेहमान शामिल हुए। शादी हिंदू रीति रिवाज से हुई और बाकायदा इसमें 'शगुनी' की विदाई भी हुई। बारात में वही गाने बजे जो आम शादियों में बजते हैं। लोग जमकर नाचे। इतना ही नहीं दूल्हा 'शगुन' कार में सवार होकर परिणय स्थल तक पहुंचा। 

कैसे तय हुआ रिश्ता जंगबहादुर और बसंत त्रिपाठी नाम के दो दोस्त हैं। एक बार जंगबहादुर अपनी पैट 'शगुनी' के साथ दोस्त बसंत त्रिपाठी के पास पहुंचे। मजाक-माजक में जंगबहादूर ने कहा कि यार इसके लिए कुत्ता खोज रहा हूं। तभी उनके दोस्त ने कहा कि क्यों नहीं मेरे कुत्ते शगुन के साथ कर देते। इसके बाद क्या था। शगुन और शगुनी की शादी तय हो गई।