योगी सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं में शामिल लोगों के लिए बनाया ट्रांसफर पॉलिसी

लखनऊ (13 जून): मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई हुई कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसले लिए। इस बैठक में जहां राज्य में डॉक्टरों की कमी को देखते हुए वॉक इन इंटरव्यू के जरिए तत्काल डॉक्टरों की भर्ती करने का फैसला किया वहीं राज्य में डॉक्टरों के लिए नई ट्रांसफर पॉलिसी पर भी योगी सरकार ने अपनी मुहर लगा दी।


आपको बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में शामिल लोगों के लिए ट्रांसफर की कोई पॉलिसी नहीं थी। इसमें भी A श्रेणी में 16 जिले, B श्रेणी 29 जिले,  C श्रेणी 19 जिले और D श्रेणी में 11 जिले लिए गए हैं।  ट्रांसफर पॉलिस के मुताबिक एक फरवरी से 31 मार्च तक ट्रांसफर होंगे। निजी अनुरोध एक फरवरी से 31 मार्च तक किया जा सकेगा। 1 दिसम्बर से 5 दिसंबर तक दूसरे फेज के ट्रांसफर होंगे।