महिला की फोटो फेसबुक पर डालने के मामले में यूपी सरकार ने दिया जवाब

नई दिल्ली (21 जून): उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने असम की मह‌िला की फोटो डालने को खारिज किया है। सरकार की तरफ से जारी किए गए पत्र में बताया गया कि मुख्यमंत्री के नाम से फेसबुक पर डाली गई पोस्ट पूरी तरह से असत्य और आधारहीन है। प्रदेश सरकार की तरफ से फेसबुक पर संपर्क किए जाने के बाद उस पोस्ट को भी हटा दिया गया।

प्रवक्ता की तरफ से ये भी जानकारी दी गई क‌ि मुख्यमंत्री के फर्जी अकाउंट से क‌िए गए उस पोस्ट को सरकार ने काफी गंभीरता से लिया है। छानबीन में पता चला क‌ि वो पोस्ट असम से की गई थी। इस मामले में असम पुलिस से संपर्क करके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की बात की गई है।

वहीं असम पुलिस ने जानकारी दी है क‌ि पनबाजार में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ समाज में कटुता और वैमनस्य बढ़ाने के जुर्म मे अभियोग दर्ज करके विवेजना शुरू कर दी गई है।

असम की एक आदिवासी युवती लक्ष्मी ओरंग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और तेजपुर के भाजपा सांसद आरपी शर्मा के खिलाफ मानहानि का दावा करने का फैसला लिया था।

दरअसल आदित्यनाथ के नाम वाले एक फेसबुक अकाउंट से जारी दस साल पुरानी एक तस्वीर में इस युवती को निर्वस्त्र दिखाया गया है। इससे राज्य में विवाद पैदा हो गया।  कई आदिवासी संगठनों ने इसके विरोध में सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया और योगी व भाजपा सांसद के पुतले जलाए थे। इस मामले में अखिल असम आदिवासी छात्र संघ ने चराईदेव जिले के मोरानहाट थाने में योगी के खिलाफ एक प्राथमिकी भी दर्ज करा दी थी।