नोटबंदी के कारण मरने वालों को अखिलेश सरकार देगी मुआवजा

नई दिल्ली (7 दिसंबर): नोटबंदी के कारण बैंकों और एटीएम के बाहर लाइन में खड़े लोग हॉर्ट अटैक और थकान के कारण दम तोड़ रहे हैं। विपक्षी पार्टियों ने भी इसको मुद्दा बनाते हुए सरकार पर निशाना साधा है। ऐसे में यूपी की अखिलेश सरकार ने ऐसे लोगों के मृतक परिवारों को दो-दो लाख मुआवजा देने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में नोटबंदी के कारण बैंकों और एटीएम की कतार में नोट बदलवाने में लगे लोगों की मृत्यु को दुखद बताया। उन्होंने कहा सरकार ‘मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष’ से आर्थिक रूप से कमजोर सभी मृतकों के परिजनों को परीक्षणोपरान्त दो-दो लाख रुपए मुहैया कराएगी।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ की रज़िया पत्नी अकबर हुसैन के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उनके परिजन को ‘मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष’ से 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। इस घटना को दुखद बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को अपनी ही धनराशि निकालने के लिए इस प्रकार बैंकों एवं एटीएम की लाइन में लगना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि उसमें भी वे सफल नहीं हो पा रहे हैं जो अत्यन्त कष्टप्रद है।