Blog single photo

UP बोर्ड रिजल्ट: 150 स्कूलों में एक भी बच्‍चा नहीं हुआ पास, अधिकारी हैरान

यूपी बोर्ड ने हाल ही में 10वीं और 12वीं परीक्षा के नतीजे जारी किए थे, जिसका परिणाम पिछले 5 सालों में सबसे खराब रहा था। वहीं प्रदेश में कई ऐसे स्कूल भी हैं, जिसका एक भी बच्चा बोर्ड परीक्षा में पास नहीं हुआ है और इन स्कूलों की संख्या करीब 150 है। अब बोर्ड इन स्कूलों से रिजल्ट को लेकर स्पष्टीकरण मांग रहा है।

नई दिल्ली (02 मई): यूपी बोर्ड ने हाल ही में 10वीं और 12वीं परीक्षा के नतीजे जारी किए थे, जिसका परिणाम पिछले 5 सालों में सबसे खराब रहा था। वहीं प्रदेश में कई ऐसे स्कूल भी हैं, जिसका एक भी बच्चा बोर्ड परीक्षा में पास नहीं हुआ है और इन स्कूलों की संख्या करीब 150 है। अब बोर्ड इन स्कूलों से रिजल्ट को लेकर स्पष्टीकरण मांग रहा है।

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार ज्यादातर स्कूल उन इलाकों के हैं जो ‘संवेदनशील’ श्रेणी में आते हैं। रिकॉर्ड के मुताबिक 98 स्कूलों में 10वीं कक्षा और 52 स्कूलों में 12वीं कक्षा का पासिंग प्रतिशत शून्य रहा। इन 150 स्कूलों में सरकारी और कई प्राइवेट स्कूल भी हैं। 

यूपी बोर्ड एग्जाम में तकरीबन 11 लाख छात्र मातृभाषा हिंदी में फेल हो गए। इस मामले में 12वीं के छात्रों की संख्या 10वीं से दोगुनी है। सेंकडरी शिक्षा विभाग के अनुसार कुल 11,19,994 छात्र में 3,38,776 छात्र 10वीं में और 12वीं में 7,81,276 छात्र हिंदी में फेल रहे।  

इन आंकड़ों ने अधिकारियों को भी सकते में ला दिया है। UPMSP की सचिव नीना श्रीवास्तव ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में कहा, “इस परीक्षा में नकल रोकने के लिए राज्य सरकार ने कड़े कदम उठाए थे। बोर्ड रिजल्ट का आकलन करने के बाद ही कुछ कह सकता है।”  

Tags :

NEXT STORY
Top