बिन बताए खुला बैंक खाता, 48 लाख रूपए की हेराफेरी

वसीम सिद्दीकी, बस्ती (10 जनवरी): नोटबंदी के बाद देशभर में भारी तादाद में कालेधन के नटवरलालों ने अपनी काली कमाई को सफेद करने के लिए फर्जीवाड़ा किया है और अब ऐसे कालेधन के कुबरों पर इनकम टैक्स, ईडी, सीबीआई समेत अन्य जांच ऐजेंसियों की रडार पर हैं। इसी कड़ी में बस्ती में हेराफेरी का बड़ा मामला सामने आया है।

यहां के हर्रैया थाना क्षेत्र के खमहरिया गंगाराम गांव के रहने वाले शिव शंकर मौर्या ने अपने नाम से फर्जी एकाउण्ट खुलने की शिकायत की थी,शिव शंकर मौर्या के पास जब बैंक से वेल्कम लेटर आया तो पता चला की उस के नाम से बैंक में खाता संख्या 20358059708 से  एकाउण्ट खुल गया है जबकि उसने कोई खाता ही नहीं खुलवाया था। खाता खुलने के वेल्कम लेटर लेकर जब शिव शंकर बैंक पर पहुंचा तो पता चला उसके नाम से खाता खोला गया है और खाते में 3.5 लाख रूपए भी जमा है।

शिव शंकर मौर्या ने इसकी शिकायत भारतीय स्टेट बैंक के क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय के क्षेत्रीय प्रबंधक उत्तम कुमार वर्मा से भी। खाते की जांच की गई तो पता चला की 14 सितम्बर को यह खाता खोला गया है और अब तक 48 लाख रूपए की हेराफेरी हुई है, वहीं बैंक ने फर्जी खाता होने पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। एसपी शैलेश कुमार पाण्डेय का कहना है की अब तक जांच में 48 लाख रूपए के हेराफेरी का मामला जांच में आया है जो देश के कई हिस्सों में ट्रांसफर की गई है, मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।